खास खबर/लोकल खबर

अब्दुल्लाह अज़ीज़ और रिजवान अहमद बने युवाओं के लिए प्रेरणा

शेखपुरा नगर परिषद क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाला गांव जमवाड़ा (जमुआरा) के निवासी अब्दुल्लाह अज़ीज़ और रिजवान अहमद दोस्त की मिसाल भी हैं और युवाओं के लिए प्रेरणा भी। दोनों ने 4 सालो तक engineering की पढ़ाई साथ में की, दोनों की दोस्ती काफी अच्छी रही है बचपन से। पढ़ाई के दौरान ही दोनो ने कुछ अलग करने की ठानी। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करके दोनो गांव आये और साथ मिलकर शहद का व्यवसाय शुरू किया। 2 सालों से शहद का कारोबार कर रहे हैं। डाबर एवं अन्य ब्रांड से कम कीमत में बेच रहे हैं। बिल्कुल शुद्ध और ताज़ा शहद 2-3 स्वाद में उपलब्ध है – तुलसी, सरसों, आम जिसमें तुलसी का सबसे अच्छा स्वाद माना जाता है। कहा जाता है कि शहद खाने से 99 बीमारियों का इलाज है। आप भी खाएं परिवार को भी खिलाएं और स्वस्थ रहें। इनके एक किलो का दाम मात्र ₹350 है।

बाज़ार से कम दाम में मुहैया करा रहे हैं। ये बताते हैं कि अभी कोरोना काल और लॉक डाउन के कारण कारोबार में इन्हें नुकसान भी हुआ है पर इन्होंने हिम्मत नहीं हारा है। आगे ये बताते हैं कि सरसो के खेत मे मधुमक्खी पालकर शहद का उत्पादन करते हैं और इनके शुद्ध की बाजार में भी अच्छी डिमांड है।

[perfect_survey id=”2763″]

Back to top button
error: Content is protected !!