धर्म और आस्थाशेखपुरा

महा पर्व का आज है दूसरा दिन, दाल कुआं के पानी का है बड़ा महत्व, खरना पूजा की खरीददारी के लिये बाजारों में उमड़ी है भीड़

सूर्य उपासना के चार दिनी महापर्व का आज दूसरा दिन यानी खरना/लोहन्डा है। शेखपुरा जिले में आज इसकी तैयारी जोरों पर है। शेखपुरा शहर में लोहंडा का प्रसाद बनाने के लिए दाल कुआं के नाम से प्रसिद्ध कुआं से छठव्रतियाँ जल लेकर घर जातीं हैं और इसी पानी से खरना का प्रसाद बनाया जाता है। स्थानीय लोगों का मानना है कि दाल कुआं का पानी धार्मिक दृष्टिकोण से शुद्ध है। कहा जाता है कि शेरशाह जब शेखपुरा आए थे, तो दाल कुआं का निर्माण कराया था। तब से पूजा में प्रसाद बनाने के लिए इसी कुआं का पानी उपयोग किया जाता है।

बरबीघा बाजार का एक दृश्य

वहीं आज जिले के सभी बाजारों में भी फलों और पूजा सामग्रियों की दुकानें सज गई है। सभी दुकानों पर खरीददारी के लिये लोगों की भीड़ उमड़ी हुई है। सभी जल्द से जल्द प्रसाद की सामग्री लेकर अपने घर पहुंचना चाह रहे हैं। शाम में सभी अपने-अपने घरों में खरना का प्रसाद ग्रहण करेंगे।

Back to top button
error: Content is protected !!