चुनावशेखपुरा

जिलाधिकारी की सफल नीति से शांतिपूर्ण हो गया मतदान, सभी प्रत्याशियों का भाग्य EVM में हुआ कैद, अब 10 नवंबर को खुलेगा पिटारा, पढ़ें चुनाव की पूर्ण विवरणी

बिहार विधानसभा से पहले चरण का मतदान खत्म हो गया। शेखपुरा जिले में कुल 56% मतदान हुआ। 169, शेखपुरा बिधानसभा में 56.22% जबकि 170, बरबीघा बिधानसभा में कुल 55.66% मतदान हुआ। दो-एक EVM में खराबी के कारण हुए व्यवधान की छिटपुट घटनाओं को छोड़ दिया जाय तो दोनों बिधानसभा में मतदान शांतिपूर्ण सम्पन्न हो गया। इसका पूरा श्रेय जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी इनायत खान, जिला पुलिस अधीक्षक दयाशंकर व उनकी पूरी टीम को जाता है। चुनाव पूर्व की गई इनकी पुरज़ोर तैयारियों के बल पर जिले में मतदान निष्पक्ष, पारदर्शी, और शांतिपूर्ण सम्पन्न हुआ है। किसी भी मतदान केंद्र से कोई अप्रिय सूचना नहीं मिली।

मिली सूचना के मुताबिक जिला नियंत्रण कक्ष लगातार निर्वाचन कार्यों पर पैनी निगाह बनाए हुए था। सत्येंद्र कुमार सिंह उप विकास आयुक्त, अमित कुमार एसडीसी, सत्येंद्र प्रसाद प्रभारी पदाधिकारी नियंत्रण कक्ष, तृप्ति सिंहा डीपीओ, अर्चना कुमारी एसडीसी, उषा कुमारी सीडीपीओ के साथ-साथ कई अधिकारी लगातार नियंत्रण कक्ष से चुनाव प्रक्रिया पर पैनी नजर आए हुए थे।

जिला निर्वाचन अधिकारी सह जिला अधिकारी इनायत खान एवं पुलिस अधीक्षक दयाशंकर सभी मतदान केंद्रों पर नियंत्रण कक्ष में बैठकर लगातार निगरानी करते रहे।

जिलाधिकारी के सख्त निर्देश पर सभी बूथों पर स्वास्थ्य की बेहतर व्यवस्था मौजूद थी। मतदाताओं की स्क्रीनिंग, मास्क, ग्लब्स, सेनेटाइजर की समुचित व्यवस्था के साथ सभी बूथों पर आवश्यक सुबिधायें मौजूद थी। वहीं पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर जिले की सीमाओं के साथ-साथ सभी मतदान केंद्रों की सुरक्षा व्यवस्था अभेद्य थी।

जिले के सभी पदाधिकारी दिन-भर मतदान केंद्रों पर जाकर जरूरी दिशा-निर्देश देते रहे।

इस मतदान में महिला मतदाताओं ने भी बढ़ चढ़ कर अपनी भागीदारी निभाई। शेखपुरा विधानसभा क्षेत्र में 57.39% महिला और 55.05% पुरुष ने मतदान में हिस्सा लिया, वहीं बरबीघा विधानसभा क्षेत्र मे 56.12% महिला और 55.2% पुरूष ने मतदान किया।

0वहीं सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने अपने बूथों ओर जाकर मतदान किया।

इस दौरान जिले के सभी मुख्य सड़कों और बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा।

गौरतलब है कि शेखपुरा बिधानसभा में कुल 11 और बरबीघा में कुल 10 प्रत्याशियों का भाग्य आज EVM नामक पिटारे में कैद हुआ। इस पिटारे के खुलने की तारीख 10 नवंबर को मुकर्रर है। इसी दिन ये पिटारा खुलेगा और सभी के नसीब का फ़ैसला करेगा। जीत किसी एक की ही होनी है। बाकियों को अगले 5 साल का इंतजार करना होगा। मगही न्यूज चुनाव कार्य में संलग्न सभी कर्मियों को शांतिपूर्ण चुनाव सम्पन्न कराने के लिये बधाई देता है।

Back to top button
error: Content is protected !!