चुनावधर्म और आस्थाशेखपुरा

दुर्गापूजा में cobid-19 के नियमों का करना होगा पालन, नही तो होगी दंडात्मक कार्रवाई

शेखपुरा में दशहरा पर्व के अवसर पर विधि व्यवस्था के संधारण करने के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी सह जिलाधिकारी इनायत खान एवं पुलिस अधीक्षक दयाशंकर के द्वारा संयुक्त आदेश जारी किया गया है। इस वर्ष दुर्गा पूजा का त्यौहार 17 अक्टूबर से शुरू होकर 25 अक्टूबर तक मनाया जाएगा। जिले में कोरोना के एक बार फिर से बढ़ते संक्रमण और बिहार बिधानसभा चुनाव के मद्देनजर पूजा के अवसर सम्भावित भीड़ के मद्देनजर विशेष सतर्कता बरतने एवं कड़ी निगरानी एवं निरोधात्मक कार्रवाई का आदेश के साथ नियमों के पालन का निर्देश भी दिया है। गौरतलब है कि दुर्गा पूजा में बड़ी संख्या में लोग पूजा पंडाल बनाते हैं, लेकिन केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर निर्देश जारी किया गया है। जिसका अनुपालन करना बहुत जरूरी है। जिला अंतर्गत सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी अंचलाधिकारी को निर्देश दिया गया गया कि आदेश का उल्लंघन कर दुर्गा पूजा का आयोजन न हो। पूजा पंडाल के आसपास कोई तोरण द्वार अथवा स्वागत द्वार नहीं बनाए जाएगा। जिस जगह मूर्तियां रखी गई है स्थान को छोड़कर शेष भाग खुला रहेगा। उद्घोषणा प्रणाली का उपयोग नहीं किया जाएगा साथ ही मेला का भी आयोजन नहीं होगा। पूजा स्थल के आसपास खाने वाले पदार्थ का स्टाल नहीं लगेगा। किसी प्रकार के विसर्जन जुलूस की अनुमति नहीं दी जाएगी तथा मूर्तियों का विसर्जन विजयदशमी के दिन 25 अक्टूबर को पूर्ण कर लिया जाएगा। कोई सामुदायिक भोज या प्रसाद का वितरण किया जाएगा। आयोजक या पूजा समिति द्वारा किसी भी रूप में आमंत्रण पत्र भी जारी नहीं किया जाएगा। मंदिर में पूजा पंडाल का उद्घाटन समारोह नहीं होगा। मंदिर में पूजा के आयोजकों द्वारा पर्याप्त सेनेटाइजर की व्यवस्था करनी होगी।बिहार विधान सभा आम निर्वाचन के तहत संपूर्ण जिले में भारतीय दंड संहिता की धारा 144 निषेधाज्ञा लागू रहेगा। किसी भी सार्वजनिक स्थल, होटल, क्लब आदि पर गरबा या डांडिया, रामलीला इत्यादि का आयोजन नहीं होगा। Covid-19 से बचाव के लिए फेस मास्क का प्रयोग तथा समाजिक दूरी का पालन करना अनिवार्य होगा। दुर्गा पूजा के अवसर पर विधि व्यवस्था के लिए काफी संख्या में दंडाधिकारी पुलिस अधिकारी एवं पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है। दिनांक 23 अक्टूबर से मूर्ति विसर्जन तक सभी अपने-अपने निर्धारित क्षेत्रों में उपस्थित रहकर विधि व्यवस्था का संधारण करना सुनिश्चित करेंगे। दुर्गा पूजा के अवसर पर अनुमंडल क्षेत्र के अंतर्गत संपूर्ण विधि व्यवस्था के प्रभाव में अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रहेंगे।

Back to top button
error: Content is protected !!