चुनावशेखपुरा

प्रशिक्षण कोषांग के द्वारा चुनाव पीठासीन पदाधिकारियों को दो पालियों में दिया गया प्रशिक्षण

बिहार विधान सभा आम निर्वाचन हेतु शेखपुरा जिला अंतर्गत प्रशिक्षण कोषांग के द्वारा चुनाव पीठासीन पदाधिकारियों का दो पालियों में प्रशिक्षण जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान(डाइट) एवं मॉडल अभ्यास विद्यालय में प्रदान किया गया। इस प्रशिक्षण के दोनों पालियों में डायट, शेखपुरा में कुल 520 पीठासीन पदाधिकारी एवं मॉडल अभ्यास विद्यालय में कुल 312 पीठासीन पदाधिकारियों को प्रशिक्षित किया गया। यह प्रशिक्षण विशेष रुप से पीठासीन पदाधिकारियों के लिए उनके कार्य दायित्व के निर्वहन एवं उनसे जुड़ी चुनौतियों से निपटने एवं सुचारू रूप से मतदान प्रक्रिया को सफल बनाने के लिए दिया गया। इस प्रशिक्षण में विशेष कर पीठासीन पदाधिकारियों के लिए निर्देश दिया गया कि मतदान केंद्रों पर सभी गतिविधियों पर सतर्क दृष्टि बनाए रखें। सभी सील एवं प्रपत्र पर मतदान अभिकर्ता का अक्षर अवश्य लें ।मतदान हेतु 3 पंक्तियों में मतदाताओं को लगाएं, प्रथम महिला मतदाता हेतु, द्वितीय पुरुष मतदाता हेतु, तृतीय ग्रीन कॉरिडोर दिव्यांगों बुजुर्ग एवं गोद में बच्चा लिए महिला मतदाताओं के लिए। दिव्यांग बुजुर्ग एवं महिला मतदाता को प्राथमिकता दें। मतदान की प्रक्रिया तेज रखें, भीड़ ना बढ़ने दें, मोबाइल कैमरा या सत्ताधारी को मतदान प्रकोष्ठ तक ना जाने दें। मतदान समाप्ति के समय पर मतदाताओं की भीड़ लगी हो तो लाइन में खड़े सभी मतदाताओं को पर्ची निर्गत करें। अंतिम मतदाता को पहली पर्ची दे मतदान समाप्ति के उपरांत सभी अभिकर्ता की उपस्थिति में ईवीएम सील करें तथा मतपत्र लेखा 17c की प्रति अभिकर्ता को अवश्य दे दें। मतदान समाप्ति की घोषणा पर उनके हस्ताक्षर करा लें उन्हें भी सील लगाने के लिए कहें। डीपीआरओ सत्येंद्र प्रसाद ने बताया कि प्रत्येक मतदाता को फोटोयुक्त बीएलओ पर्ची बूथ लेवल ऑफिसर द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी। इसका उद्देश्य है कि प्रत्येक निर्वाचक यह जान सके कि उसे किस बूथ पर मतदान करने हेतु जाना है एवं उस बूथ की निर्वाचक नामावली के किस क्रमांक पर उसका नाम अंकित है। बीएलओ पर्ची पर बीएलओ का हस्ताक्षर भी आवश्यक है। मतदान बूथों पर कोविड-19 से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य है।

Back to top button
error: Content is protected !!