खास खबर/लोकल खबररोजगारशेखपुरा

सभी बैंक रोजगार सृजन के लिए लोन देना सुनिश्चित करें – डीडीसी

शेखपुरा समाहरणालय के श्रीकृष्ण सभा कक्ष में सत्येंद्र कुमार सिंह उप विकास आयुक्त की अध्यक्षता में जिला स्तरीय बैंकर्स परामर्श दात्री समिति की त्रैमासिक बैठक हुई। उन्होंने सभी बैंकों के प्रबंधकों को निर्देश दिया कि रोजगार सृजन में लोन देना सुनिश्चित करें। रोजगार से संबंधित किसी व्यक्ति का आवेदन किसी प्रकार लंबित नहीं रखें और बिना कारण को आवेदन को वापस भी नहीं करें। रोजगार सृजन वाले कार्यक्रमों को सभी बैंक सर्वोच्च प्राथमिकता दें। अपने वार्षिक लक्ष्य के अनुरूप कार्य करना सुनिश्चित करें। प्रधानमंत्री किसान योजना से संबंधित लंबित 300 से अधिक आवेदनों पर गहरी चिंता व्यक्त की गई। उन्होंने स्पष्ट कहा कि 2 सप्ताह के अंदर सभी पेंडिंग मामले को निष्पादन करना सुनिश्चित करें। सीडी रेशिओ मार्च 2020 की तुलना में आज 4.75% की गिरावट आई है। अभी जिले का सीडी रेशियो 39.29% है। उप विकास आयुक्त ने कहा कि किसी भी स्थिति में 40% से अधिक सीडी रेशियो होना चाहिए। उन्होंने कहा कि बकरी, गाय, भेड़, कुक्कुट आदि पालनकर्ता को सरकार के द्वारा निर्धारित मापदंड के अनुसार लोन देना सुनिश्चित करें। इसमें किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। डीपीआरओ शेखपुरा ने बताया कि जिले के कई एटीएम सेंटर बंद रहने से स्थानीय नागरिकों को काफी कठिनाई होती है। जिले के सभी एटीएम को सुचारू ढंग से संचालन करने के लिए कई निर्देश दिया गया। किसी भी जिलेवासी को पैसा निकालने के लिए चक्कर लगाना नहीं पड़े। बैठक में नावार्ड की नई-नई योजनाओं की जानकारी दी गई और सभी बैंकर्स को कहा गया कि इसमें अपेक्षित सहयोग करें। एलडीएम ने बताया कि जिले में कुल एटीएम की संख्या 39 है, जो सभी संचालित है। जिले में सेविंग बैंक अकाउंट की संख्या 712 348 है। जिले में कुल डेबिट कार्ड की संख्या 260995 है। जिले में सर्वाधिक डेबिट कार्ड की संख्या केनरा बैंक के पास है, जो 98074 है और सबसे कम डेबिट कार्ड वाले बैंक Axis Bank है। एलडीएम ने बताया कि बिहटा के ललिता कुमारी पर सबसे अधिक ₹900000 का लोन बकाया है, जिसको वसूलने के लिए कई निर्देश दिया गया। आज की बैठक में सभी बैंकों के प्रबंधक, नावार्ड के मैनेजर के साथ-साथ कई अधिकारी उपस्थित थे।

Back to top button
error: Content is protected !!