खास खबर/लोकल खबरराजनीतिशेखपुरा

कांग्रेस विधायक सुदर्शन का कृष्ण बने ललन सिंह, कवच सुरक्षा के साथ जद यू में हुआ इंट्री

बिहार विधानसभा चुनाव की सरगर्मी दल-बदल के कारण बढ़ गई है। सभी राजनीतिक दल के विधायक मतदाताओं का नब्ज टटोल कर दल बदल कर रहे हैं। शेखपुरा जिले के बरबीघा विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक सुदर्शन का चक्र कांग्रेस में थम गया है। अब वे जदयू से राजनीतिक खेल शुरू करने बाले हैं। सुदर्शन का वर्तमान में ललन सिंह राजनीतिक कवच बने हुए हैं और आज जदयू की सदस्यता दिला कर बरबीघा की राजनीति को गर्मा दिया है।लेकिन सुदर्शन जब जदयू की सदस्यता ले रहे थे तो ललन सिंह और अशोक चौधरी थे, लेकिन इस सुनहरे मौके से नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह गायब रहे। जिसके कारण कई अटकलें लगाई जा रही है। खैर बरबीघा के लोगों के बीच पिछले छह महीने से जदयू में सुदर्शन के शामिल होने की चर्चा हो रही थी। दूसरी तरफ सूत्र ने कहा कि सुदर्शन को जदयू की सदस्यता दिलाने के पूर्व नीतीश कुमार से मुलाकात कराई गई और अपुष्ट सूत्र कहते हैं कि आशीर्वाद भी मिला है। राजनीति में आशीर्वाद का असर कितना समय तक रहता है यह तो वक्त बताएगा। अभी तक अधिकांश विधायक और नेता जो जदयू में शामिल हुए हैं वह राजनीति से डाइल्यूट ही रहे हैं। अब देखना होगा सुदर्शन का चक्र चलता है या फिर अन्य नेताओं की तरह डायल्यूट हो जाते हैं। अभी कुछ भी कयास लगा देना जल्दबाजी होगा।दूसरी तरफ बरबीघा विधानसभा क्षेत्र से जदयू जिलाध्यक्ष अंजनी कुमार और टिकट के लिए मजबूत दावेदारी कर रहे हैं, वहीं बरबीघा प्रभारी डॉ राकेश रंजन कड़ी मेहनत कर जदयू का सांगठनिक ढांचा को मजबूत किया है और बरबीघा से चुनाव लड़ने के लिए राज्य पार्टी कायार्लय में पर्चा भी दाखिल किया है। राजनीति में राज के बाद नीत है, इसलिये राज के लिए कोई भी नीत किसी भी समय बदल सकती है।

Back to top button
error: Content is protected !!