रोजगारशेखपुरासमाजसेवा

सतत जीविकोपार्जन योजना के तहत सभी अत्यंत निर्धन परिवारों को जोड़ा गया, अब कोई भूखा नहीं सोएगा

शेखपुरा:- शुक्रवार को जिले के सभी छः प्रखंडों में सी आर पी ड्राइव चलाकर सर्वे का कार्य पूर्ण कर लिया गया। जिसमें पहले से 541 निर्धन परिवार को जोड़ा जा चुका था तथा इस बार 501 निर्धन परिवार को जोड़कर कुल 1042 अत्यंत निर्धन परिवार हो चुका है।

प्रखंडवार निर्धन परिवारों की संख्या
अरियरी-    196
बरबीघा-    186
चेवाड़ा-      140
घाटकुसुम्भा- 147
शेखपुरा-       174
शेखोपुरसराय- 199

इस प्रकार जिला के सभी अत्यंत निर्धन परिवार को सतत जीविकोपार्जन से जोड़ लिया गया है। सभी परिवार को अगस्त तक विशेष निधि के तौर पर प्रत्येक परिवार को रु 10000/- की राशि मुहैया करा दी जाएगी। जिससे वो छोटा मोटा रोजगार शुरू कर देंगे तथा सिंतबर तक प्रत्येक परिवार को कम से कम रु 27000/- राशि भेजकर उनके पूंजी में बढ़ोतरी की जाएगी। इस बीच एमआरपी द्वारा सभी को घर घर जाकर रोजगार/चयनित जीविकोपार्जन को लेकर प्रशिक्षित करेंगे।
अभी जिला में 18 एमआरपी कार्य कर रहे हैं जिसमे 18 अतिरिक्त एमआरपी की आवश्यकता होगी।
प्रखंड में सूक्ष्म योजना बनाने का कार्य प्रगति पर है।
अब तक सतत जीविकोपार्जन योजना के तहत जिला के सभी छः प्रखंडों में कार्य चल रहा है। जिसमे कुल 54 पंचायत 311 गांव तथा 378 ग्राम संगठन शामिल है।
जिला परियोजना प्रबंधक अनिशा ने बताया कि जिला में योजनाबद्ध तरीके से काम हो रहा है।सभी को समय पर फण्ड, प्रशिक्षण मुहैया करा दिया जाएगा। अब तक 438 परिवार को 1 करोड़ 18 लाख 6 हज़ार 7 सौ रुपये का फण्ड भेजा जा चुका है। जिसमे 284 सूक्ष्म एंटरप्राइज ,133 बकरी पालन तथा 22 गौ पालन खुल चुका है।
इस योजना से जुड़ कर गरीब के चेहरे पर मुस्कान आ चुका है। रोज की कमाई लगभग 300 से 500 रु तक हो चुकी है। लॉकडाउन के अवधि में भी सभी परिवार को अतिरिक्त प्रति परिवार को 2000/- की राशि दी गयी। जिससे योजना अंतर्गत कोई भी परिवार भूखा नही सोया। सभी परिवार को मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना से जोड़ने की योजना है तथा प्रत्येक का स्किल बढ़ाने की भी योजना है।

Back to top button
error: Content is protected !!