प्रशासनशेखपुरास्वास्थ्य

टीकाकरण की रफ्तार धीमी होने पर सख्त हुईं जिलाधिकारी, समीक्षा बैठक में उप विकास आयुक्त ने दिए कई निर्देश

Sheikhpura: कोरोना से बचाव का एकमात्र उपाय है- टीकाकरण। जिले को कोरोना वायरस से मुक्त करने के लिए टीकाकरण एवं जांच को जिला प्रशासन सर्वोच्च प्राथमिकता दे रहा है। दूसरी तरफ ग्रामीण इलाकों में जागरूकता के अभाव में टीके का बिरोध भी हो रहा है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक पिछले एक सप्ताह से इसमें अपेक्षित प्रगति नहीं हो रही है।
अभियान को गति देने हेतु समीक्षा बैठक
इस अभियान में गति लाने हेतु आज उप विकास आयुक्त सत्येंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में उनके कार्यालय प्रकोष्ठ में एक समीक्षात्मक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सिविल सर्जन डॉ कृष्ण मुरारी प्रसाद सिंह, एमओआईसी एवं सभी डॉक्टरों के साथ टीकाकरण के संबंध में विस्तृत चर्चा किया गया। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी इनायत खान ने लक्ष्य के अनुरूप टीकाकरण सुनिश्चित कराने का स्पष्ट निर्देश दिया है। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

जीविका दीदियों, आशा एवं आंगनवाड़ी सेविकाओं को टीकाकरण में लगाने का निर्देश
उन्होंने बैठक में मौजूद सभी एमओआईसी को निर्देश दिया कि टीकाकरण अभियान की सफलता के लिए माइक्रो प्लान बनाएं और वैक्सीन एक्सप्रेस को तेज गति से चलाएं। उप विकास आयुक्त ने कहा कि कुछ दिनों से जिले में टीकाकरण की स्थिति संतोषजनक नहीं है। उन्होंने टीकाकरण की सफलता के लिए स्वयं मोबाइल के माध्यम से सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को भी एमओआईसी के साथ समन्वय बनाकर लक्ष्य के अनुरूप टीकाकरण कराने का निर्देश दिया। उन्होंने सभी जीविका दीदियों, आशा एवं आंगनवाड़ी सेविकाओं आदि को टीकाकरण कार्य में लगाने का निर्देश दिया। साथ ही यह भी कहा कि जिस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र क्षेत्र में टीकाकरण की स्थिति संतोषजनक नहीं होगी, वहां के संबंधित एमओआईसी पर कार्रवाई की जाएगी। उप विकास आयुक्त खुद प्रतिदिन टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा करेंगे।
जिलेवासियों से अफवाहों पर ध्यान न देकर टीकाकरण की अपील

कब और कहां होगा वैक्सीनेशन

बैठक में वैक्सीन एक्सप्रेस का टाइम टेबल भी जारी किया गया। साथ ही उन्होंने जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी है। इसको जड़ से खत्म करने का टीकाकरण ही एक मात्र हथियार है। जो व्यक्ति अभी तक अपना टीकाकरण नहीं करवाये हैं, वे वैक्सीन एक्सप्रेस के माध्यम से टीका अवश्य लगवा लें। इसका साइड इफेक्ट ना के बराबर है। लेकिन कोविड का संक्रमण होने पर इससे गंभीर स्थिति हो सकती है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस संबंध में अफवाह फैलाने वालों पर जिला प्रशासन कठोर कार्रवाई करेगा। इसके अलावा मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेंस एवं हाथ की सफाई भी अनिवार्य है। आज की बैठक में डीपीएम श्याम मनोहर निर्मल, डीपीआरओ सत्येंद्र प्रसाद, पिरामल के जिला प्रतिनिधि विशाल कुमार, एमओआईसी डॉ अशोक कुमार, सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉ महेंद्र कुमार के साथ-साथ सभी एमओआईसी आदि उपस्थित थे।

Back to top button
error: Content is protected !!