खास खबरजानकारीधर्म और आस्थाप्रशासनशेखपुरा

धूम-धाम से हुआ गिरिहिन्डा महोत्सव का आयोजन, आम से लेकर खास लोगों ने भक्तिरस में खूब लगाई डुबकी, कलाकारों ने सबका मन मोहा

Sheikhpura: सोमवार को जिले में गिरिहिन्डा महोत्सव की धूम रही। जिले के सभी प्रशासनिक पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि, बिभिन्न राजनीतिक दलों के नेता व आम जनता ने बढ़-चढ़ कर इसमें भाग लिया। दिन में जहां भव्य कलश यात्रा निकालकर इस महोत्सव की शुरुआत हुई, वहीं शाम होते ही धर्म और अध्यात्म परवान चढ़ता गया। कई घण्टों तक चलने सांस्कृतिक कार्यक्रम ने पूरे गिरिहिन्डा पहाड़ का माहौल भक्तिमय कर दिया। कार्यक्रम में मौजूद आम से लेकर खास लोगों ने भक्तिरस में खूब डुबकियां लगाई।

इस दौरान दिन में भव्य कलश यात्रा निकाला गया। इस यात्रा में जिलाधिकारी सावन कुमार के साथ जिला प्रशासन के तमाम अधिकारियों के साथ हजारों की संख्या में स्थानीय महिला एवं पुरुष श्रद्धालु भी शामिल हुए। गाजे-बाजे के साथ महिलाओं एवं युवतियों ने माथे पर जल से भरा कलश उठाकर अरघौती पोखर से पहाड़ पर स्थित बाबा कामेश्वर नाथ मंदिर पहुंचाया। जिसके बाद ब्राह्मणों के द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के साथ भगवान शिव का जलाभिषेक व पूजन कराया गया।

शाम होते ही मुख्य कार्यक्रम की शुरुआत हुई। जिलाधिकारी सावन कुमार, जद यू जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक रणधीर कुमार सोनी, स्थानीय विधायक विजय कुमार, जिला परिषद अध्यक्षा निर्मला सिंह, समाजसेवी शम्भू यादव सहित अन्य ने सम्मिलित रूप से विधिवत उद्घाटन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सभी अतिथियों ने जिलाधिकारी के इस प्रयास की सराहना की।

विधायक विजय सम्राट ने जहां अपने संबोधन में इस स्थल के पौराणिक महत्व पर प्रकाश डालते हुए इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित कराने हेतु हर संभव प्रयास करने का भरोसा दिलाया। वहीं जिला परिषद अध्यक्षा ने भी जिलाधिकारी के प्रयासों की भूरी भूरी प्रशंसा की। पूर्व विधायक रणधीर कुमार सोनी ने अपने संबोधन में कहा कि जिलाधिकारी के इस प्रयास से जिले को नई पहचान मिलेगी। इस महोत्सव के आयोजन के लिए उन्होंने जिलाधिकारी की काफी सराहना भी की।जिलाधिकारी ने अपने संबोधन में इस आयोजन को राष्ट्रीय स्तर पर नई पहचान से जोड़ते हुए बताया कि हमने जनप्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं तथा प्रबुद्ध लोगों से विचार-विमर्श के बाद आयोजन का निर्णय लिया। कम समय रहने के कारण इस बार तैयारी छोटी रही। आगामी आयोजनों में इसे विस्तृत रूप दिया जाएगा। मेरी कोशिश होगी कि जिले के हर पंचायत से कम से कम एक व्यक्ति इस तरह के कार्यक्रम में भाग ले। ताकि वह कहीं भी जाए तो इस आयोजन की चर्चा करे। उन्होंने कहा कि अतीत से जुड़कर रहने वाला समाज ही आगे बढ़ता है। गिरिहिंडा महोत्सव जिले को अतीत से जोड़कर आगे बढ़ने में मददगार साबित होगा। खासकर नई पीढ़ी के युवा जिले के अनछुए इतिहास से परिचित होंगे।ततपश्चात शिव स्तुति से सांस्कृतिक कार्यक्रम शुरू किया गया। कार्यक्रम में स्थानीय कलाकारों के द्वारा मनमोहक प्रस्तुति लोगों के आकर्षण का केंद्र रहा। कलाकार दीपक मिश्रा, गोपाल कुमार, गया के कलाकार राजन सजुवार एवं पटना से आये कला संग्रह के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति से लोगों का मन मोह लिया। रियांश कुमार द्वारा प्रस्तुत शिव तांडव की लोगों ने जमकर सराहना की।मंच का संचालन वरीय उप समाहर्ता सह जिला जनसंपर्क पदाधिकारी सोनी कुमारी के द्वारा किया गया। अंत में उप विकास आयुक्त द्वारा सभी कलाकारों, जनप्रतिनिधियों, पत्रकार बंधुओं एवं आम जनता को कार्यक्रम में भाग लेने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया गया। इस मौके पर सभी जिलास्तरीय एवं प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी एवं कर्मी भी मौजूद रहे।

Back to top button
error: Content is protected !!