राजनीतिशेखपुरा

पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ हुई हिंसा के बाद पार्टी ने राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की, राज्यपाल को भेजा ज्ञापन

शेखपुरा भाजपा जिलाध्यक्ष सुधीर कुमार के नेतृत्व में आज भाजपा कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को एक ज्ञापन भेजा है। जिसमें उन्होंने बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपना ज्ञापन कोविड प्रोटोकॉल का तहत जिलाधिकारी के कार्यालय में जमा कर दिया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष सुधीर कुमार ने कहा कि पश्चिम बंगाल चुनाव का परिणाम आते ही 24 घंटे के अंदर भारतीय जनता पार्टी के कई कार्यकर्ताओं की हत्या तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के द्वारा कर दी गई। कई कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हैं। पार्टी के कई कार्यकर्त्ताओं का घर और दुकान लूट लिया गया और उनमें आग लगा दिया गया। जो काफी चिंताजनक व दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि सबसे आश्चर्य इस बात पर है कि इन घटनाक्रमों के बाद भी ममता बनर्जी मूक दर्शक बनी हैं।

साथ ही उन्होंने सभी विपक्षी पार्टियों पर हमला बोलते हुए कहा कि जो मॉब लिंचिग का राग अलापते थे, आज बिलकुल चुप्पी धारण किये हुए हैं। लोकतंत्र में हिंसा का कोई स्थान नहीं होता है। ममता बनर्जी ने इन हिंसक घटनाओं को रोकने के लिए अभी तक कोई दिशा-निर्देश नहीं दिया है। इस घटना के कड़ी निंदा करते हुए सभी कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल से यह मांग किया है कि बंगाल में हत्या और हिंसा की राजनीती तत्काल बंद हो तथा अबिलम्ब राष्ट्रपति शासन लगवाया जाय। मौके पर प्रदेश कार्यसमिति सदस्य मनोज सिन्हा, जिला उपाध्यक्ष विपिन मंडल, भागलपुर युवा जिला प्रभारी आनन्द प्रकाश, जिला मंत्री गोपाल गोयल व शांति देवी, जिला प्रवक्ता नवल पासवान, ओबीसी मोर्चा जिला प्रभारी बलराम आनंद, आई टी सेल संयोजक गौरव कुमार, युवा जिला महामंत्री रितेश पांडेय समेत अन्य कार्यकर्त्ता मौजूद थे।

Back to top button
error: Content is protected !!