अपराधशेखपुरास्वास्थ्य

सदर अस्पताल में मरीज की मौत के बाद वबाल, परिजनों ने तोड़फोड़ किया, डॉक्टर ने गंभीरता को देखते हुए किया था रेफर

चंदन कुमार की रिपोर्ट
शेखपुरा सदर अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद कल गुरुवार को परिजनों ने जमकर बबाल काटा। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एक मरीज को सांस लेने में तकलीफ के बाद यहां भर्ती कराया गया था। जिसे डॉक्टरों के द्वारा ईलाज के बाद रेफर कर दिया गया था। लेकिन मरीज के परिजन उसे कहीं और ले जाने को तैयार नहीं थे। परिणाम ये हुआ कि मरीज की तबियत बिगड़ती गई, आखिरकार उसने दम तोड़ दिया।

उसके बाद मरीज के परिजनों ने अस्पताल में जमकर बबाल काटा। अस्पताल के उपकरणों को भी क्षति पहुंचाई। अस्पताल में लगे ऑक्सीजन सप्लाई का यंत्र तोड़ दिया गया। सवाल ये उठता है कि आखिरकार ये कहाँ तक न्यायोचित है। अपनी गलती से हुई मौत के बाद अस्पताल प्रशासन कैसे जिम्मेवार है। कोरोना संक्रमण के इस दौर में संसाधनों की कमी के बाबजूद अपनी जान खतरे में डाल कर लोगों की जान बचाने का प्रयत्न करना भी क्या गुनाह है? प्रशासन को ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने की जरूरत है। अस्पतालों की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने की भी जरूरत है।

Back to top button
error: Content is protected !!