खास खबर/लोकल खबरशेखपुरासमाजसेवा

कोरोना महामारी के दौरान परिवार नियोजन की जरुरत विषय पर कार्यक्रम आयोजित

आज दिनांक 10 जु़लाई 2020 को विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर सेंटर फॉर कैटेलाईजिंग चेंज एवं राघो सेवा संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में संचालित चैम्पियन परियोजना के अंतर्गत महिला वार्ड सदस्य सिहंता देवी वार्ड सं 03, पंचायत औधे एवं रतनी देवी वार्ड सं 07 पंचायत पुरैना के द्वारा कोरोना महामारी के बीच इस वर्ष के थीम ‘आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी, सक्षम राष्ट्र और परिवार की पूरी जिम्मेदारी’ के तहत अपने –अपने वार्ड में माता बैठक एवं किशोरी बैठक कराकर जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया गया. इन कार्यक्रमों के दौरान महिला वार्ड सदस्यों के द्वारा यह बताया गया की इस कार्यक्रम का उद्देश्य वातावरण और विकास के संदर्भ में जनसंख्या से जुड़े मुद्दों पर जागरूकता फैलाना है। विश्व जनसंख्या दिवस मनाए जाने का मकसद महज आबादी पर नियंत्रण पाना नहीं है बल्कि यह दिवस अपने साथ एक व्यापक लक्ष्य समेटे हुए है। जैसे कि युवाओं को उन आसान से उपायों के बारे में बताना जिनसे अवांछित गर्भधारण रोका जा सकता है, सुरक्षित यौन संबंध के बारे लोगों को जानकारी देना, इसके साथ ही कम उम्र में होने वाली शादी के नुकसानों के बारे में गांव के लोगों को बताना है। विश्व जनसंख्या दिवस का एक अहम लक्ष्य कन्या भ्रूण हत्या को रोकने की दिशा में जागरुकता पैदा करना भी है.

[perfect_survey id=”2763″]

महिला वार्ड सदस्यों के द्वारा इस दिवस के अवसर पर दो बच्चों वाली माताओं के साथ बैठक, किशोरी बैठक, बिना बच्चे वाले नव दम्पतियों के साथ बैठक, सास – बहु सम्मेलन एवं पुरुषों के साथ बैठक सुनिश्चित कर परिवार नियोजन का सार्थक अर्थ, सीमित परिवार के लाभ, विवाह की सही आयु, विवाह के दो वर्ष बाद पहला बच्चा, दूसरे व पहले बच्चें में तीन साल का अंतर, प्रसवोत्तर परिवार कल्याण सेवाएं, अंतरा गर्भनिरोधक इंजेक्शन, पुरुषों में परिवार नियोजन की सहभागिता इत्यादि विषयों पर चर्चा किया गया एवं उन्हें इस अहम मुद्दे पर संवेदनशील एवं अपने परिवार को नियोजित करने हेतु प्रेरित किया गया. कार्यक्रम के दौरान महिला वार्ड सदस्यों ने गर्भ निरोधक साधनों का वितरण, उसके प्रयोग, उसकी जरुरत इत्यादि पर भी चर्चा किया.
महिला पंचायत प्रतिनिधियों को इस बात का पूरा विश्वास है की परिवार नियोजन कार्यक्रमों एवं सेवाओं को मजबूत बनाने से गर्भावस्था और अधिक सुखद हो जाती एवं इससे स्वस्थ बच्चों का भी जन्म सुनिश्चित होता है.

Back to top button
error: Content is protected !!