जन-कल्याणजानकारीप्रशासनशेखपुरा

जनकल्याणकारी योजनाओं की जमीनी हकीकत जानने जिलाधिकारी पहुँचे गांव, स्कूल आंगनबाड़ी सहित अन्य योजनाओं में मिली गड़बड़ी पर कार्रवाई का दिया निर्देश

Sheikhpura: बिहार सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की जमीनी हकीकत जानने जिलाधिकारी सावन कुमार आज शेखोपुरसराय प्रखंड के ओनमा गांव पहुँचे। जहां उन्होंने आंगनबाड़ी, नल-जल, नाली-गली, स्कूल सहित अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं का जायजा लिया।

इस दौरान जिलाधिकारी ने स्कूल के बच्चों से पाठ्यक्रम से जुड़े सवाल पूछे, किताब पढ़ाकर उनके शिक्षा के स्तर का भी जांच किया। आंगनबाड़ी का जायजा लेते हुए उन्होंने पोषाहार का जांच किया, जिसमें भारी अनियमितता पाई गई। इसके अलावे उन्होंने नल-जल योजना का भी निरीक्षण किया। वहीं मौके पर मौजूद पंचायत के किसानों से धान आच्छादन की स्थिति के बारे में भी पूछ-ताछ किया।

स्कूल में बच्चों  से सवाल पूछते जिलाधिकारी सावन कुमार

इस संबंध में जिलाधिकारी ने बताया कि आंगनबाड़ी में पोषाहार की राशि का अभी तक वितरण नहीं हुआ है, जो एक गम्भीर मामला है। मध्य विद्यालय में शिक्षक बिना सूचना के गायब पाए गए हैं। सभी मामलों में कार्रवाई का निर्देश दिया गया है। वहीं स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के शिक्षा के स्तर में सुधार का सख्त निर्देश दिया गया है।

जिलाधिकारी ने बताया कि गांव एक दो वार्ड में नल-जल के तहत पानी की सप्लाई में हो रही परेशानी के लिए संबंधित विभाग के इंजीनियर को अविलंब कार्य करने को कहा गया है। वहीं उन्होंने बताया कि बारिश के अभाव में यहां धान का आच्छादन लक्ष्य के मुताबिक नहीं होने से किसानों को काफी परेशानी हो रही है। जिला प्रशासन इसको लेकर काफी गंभीर है। किसानों को हरसंभव मदद का प्रयास किया जा रहा है।

बताते चलें कि बिहार सरकार के मुख्य सचिव के निर्देश पर हर बुधवार व गुरुवार को जिलास्तरीय पदाधिकारियों के द्वारा सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की जांच की जाती है। इसके तहत आज जिलाधिकारी के निर्देश पर जिले के तमाम वरीय पदाधिकारी बिभिन्न गांवों का जायजा लेने निकले थे।

Back to top button
error: Content is protected !!