धर्म और आस्थाशेखपुरा

शिया समुदाय के लोगों ने मातमी जुलूस निकालकर इमाम हुसैन की शहादत के दर्द को किया याद

Sheikhpura: मोहर्रम पर इमाम हुसैन की तकलीफों का शोक मना रहे शिया मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मातम करके पूर्वजों की कुर्बानी की गाथा सुनाई। इस मौके पर जिला मुख्यालय स्थित बड़ी दरगाह से एक मातमी जुलूस निकाला गया।इस दौरान समाज के लोगों ने मातम कर के इमाम हुसैन की शहादत के दर्द को याद किया। शिया समुदाय के लोग हाय हुसैन बोलते हुए शहीदों का मातम किया।

मजलिस के इस मौके पर मौलाना ने समुदाय के लोगों को हजरत पैंगबर का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि करबला के मैदान में जो घटना घटी वह कोई मामूली बात नहीं थी। हजरत इमाम हुसैन व उनके परिवार और साथियों की शहादत यह जाहिर करता है कि इस्लाम की हिफाजत करना कितना मुश्किल काम है। उन्होंने सच के लिए अपना बलिदान दिया।

जुलूस में शामिल होकर सैकड़ों की संख्या में शिया समुदाय के बच्चे, नौजवान व बुजुर्गों ने भी मातम मनाया। जुलूस में मुंशी रजा, अरशद हैदर, अली, जफर, फैजी, शाही इमाम, अब्दुल जफर, अब्दुल चांद, मुनव्वर अली सहित अन्य लोग मौजूद थे।

दूसरी तरफ शांतिपूर्ण ताजिया के मद्देनजर जिला प्रशासन को ओर से कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए थे। पुलिस व प्रशासानिक अधिकारी पूरे जुलूस की निगरानी करते देखे गए। इसको लेकर जगह-जगह भारी पुलिस बलों को ड्यूटी पर लगाया गया।

Back to top button
error: Content is protected !!