अपराधशेखपुरा

एक दिन स्कूल बंक करने की छात्र को मिली ऐसी सजा कि पहुँच गया अस्पताल, बार-बार हो रहा है बेहोश

Sheikhpura: बरबीघा प्रखंड के ख़लीलचक गांव में छठी कक्षा के छात्र को एक दिन स्कूल नहीं जाना काफी महंगा पड़ गया। मात्र इतनी छोटी गलती के लिए मध्य विद्यालय की बेरहम शिक्षिका ने उसे ऐसी सजा दी कि वो अस्पताल पहुँच गया। फिलहाल छात्र रौशन कुमार एक निजी अस्पताल में इलाजरत्त है। इसको लेकर छात्र के पिता संजीत राम के द्वारा बरबीघा थाने में लिखित आवेदन भी दिया गया है। जिसमें इस घटना के लिये शिक्षिका को दोषी ठहराया गया है। यह घटना बीते गुरुवार की है।

थाने में दिये आवेदन के मुताबिक एक दिन पहले रौशन किसी कारणवश स्कूल नहीं जा सका था। यह बात शिक्षिका को नागवार गुजरी। उन्होंने छात्र को 300 बार उठक-बैठक लगाने का फरमान सुना दिया। 200 उठक-बैठक करते-करते ही छात्र बेहोश होकर गिर पड़ा। उसे किसी तरह होश में लाकर घर भेज दिया गया। शिक्षिका ने उसके परिजनों को किसी अस्पताल में इलाज करवाने की सलाह देते हुए मदद का भरोसा भी दिया। जिसके बाद छात्र को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस घटना में छात्र की तबियत बहुत ज्यादा बिगड़ गई, वो अस्पताल में भी बार-बार बेहोश हो जाता है।

इस बाबत उसकी मां ने बताया कि शनिवार तक इलाज के बाद भी जब उसकी हालत नहीं सुधरी तो उसे दूसरे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। साथ ही उसके पिता के द्वारा थाने में लिखित आवेदन देकर कार्रवाई करने को अपील की गई है। वहीं इस संबंध में थानाध्यक्ष सह पुलिस निरीक्षक सुनील दत्त ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज करने हेतु लिखित आवेदन प्राप्त हुआ है। जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

Back to top button
error: Content is protected !!