खेती-बाड़ीप्रशासनशेखपुरा

कृषि कार्य में किसानों हो रही समस्याओं का अविलंब करें समाधान नहीं तो होगी सख्त कार्रवाई, विभागीय समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने दिया सख्त निर्देश

Sheikhpura: कृषि हमारी अर्थव्यवस्था का मूल आधार है। इसलिए कृषि कार्य में जिले के किसानों को हो रही समस्याओं का तुरन्त निष्पादन करें। लगातार क्षेत्र का भ्रमण कर उनकी समस्याओं की जानकारी लें। पंचायत के प्रतिनिधियों सहयोग लेकर उनकी समस्याओं को दूर करें। उक्त आदेश जिलाधिकारी सावन कुमार ने मंगलवार को कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान विभाग के अधिकारिओं को दिया। जिलाधिकारी ने प्रखंडवार सभी कृषि समन्वयकों से डीजल अनुदान व धान आच्छादन का ब्यौरा मांगा।

गांव-गांव जाकर करें किसानों की मदद
डीजल अनुदान में आशानुकूल प्रगति नहीं रहने पर उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि बारिश के अभाव में किसान डीजल से सिंचाई कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें शत-प्रतिशत इसका लाभ मिलना चाहिये। कृषि समन्वयकों को आदेश देते हुए उन्होंने कहा कि गांव-गांव जाकर किसानों को इसके लिए जागरूक करें। वहीं जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए बैठक में अनुपस्थित रहने वाले कृषि समन्वयकों रामचंद्र प्रसाद (शेखोपुरसराय), शंभू शरण शर्मा (चेवाड़ा), अविनाश कुमार (बरबीघा), प्रमोद कुमार (शेखपुरा) के वेतन को अगले आदेश तक स्थगित करने का निर्देश दिया। समीक्षा के क्रम में खाद वितरण की स्थिति संतोषजनक पाई गई। वहीं कुसुम्भा में बिजली की स्थिति संतोजनक नहीं रहने के कारण सुधार का निर्देश दिया गया।

अधिकारी हर रोज करें कार्यों की समीक्षा
इसके साथ ही जिलाधिकारी ने सभी प्रखंड कृषि पदाधिकारी को किसान सलाहकार के साथ प्रतिदिन बैठक कर समीक्षा करने का निर्देश जारी किया। वहीं सभी कृषि समन्वयक एवं सलाहकार को जीपीएस की स्थिति साझा करने का भी आदेश दिया। इस बैठक में उप विकास आयुक्त, जिला कृषि पदाधिकारी, सभी प्रखंड कृषि पदाधिकारी एवं कृषि समन्वयक आदि मौजूद थे।

Back to top button
error: Content is protected !!