जरा हट केजानकारीध्यानाकर्षणशिक्षाशेखपुरा

बिना सरकारी आदेश के कई स्कूलों में मिल रही शुक्रवार को छुट्टी, शिक्षा विभाग का दोहरा नियम कहाँ से है उचित?

Sheikhpura: जिले के एक सरकारी स्कूल में रविवार की जगह शुक्रवार को सप्ताहिक अवकाश का दोहरा नियम लागू होने का मामला सामने आया है। एक ही जिले में विभाग के बिना किसी आदेश के शुक्रवार को स्कूल बंद और रविवार को संचालन के दो नियम कायदे पर सवाल उठने लगे हैं। वर्षों से इस मामले में शिक्षा विभाग के अधिकारी उदासीन हैं। मामला नगर परिषद शेखपुरा स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय कन्या मकतब, सकुनत का है। जो रविवार की जगह शुक्रवार को बंद रहता है।

शुक्रवार को रहती है स्कूल में छुट्टी
मिली जानकारी के मुताबिक इस स्कूल में शुरू से ही ऐसा नियम चल रहा है। मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण इस स्कूल में शुक्रवार को छुट्टी का प्रचलन बन गया है। यहां कुल 377 बच्चे पढ़ाई करते हैं, जिसमें मात्र 134 बच्चे मुस्लिम समुदाय के हैं। जबकि 9 कार्यरत्त शिक्षकों में 4 हिन्दू समुदाय से ही हैं। बाबजूद इसके यहां रविवार की बजाय शुक्रवार को छुट्टी रहती है। स्कूल की दीवार पर लिखा मध्याह्न भोजन का मेन्यू भी इस बात की गवाही देता है।

क्या कहते हैं स्कूल के प्रधान व विभाग के अधिकारी
इस संबंध में स्कूल के प्रधानाध्यापक धर्मेंद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि विभाग के मौखिक आदेशानुसार ही शुक्रवार को छुट्टी रहती है। ऐसे विभाग के द्वारा स्कूलों को कोई पत्र जारी नहीं किया गया है। वहीं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अश्विनी कुमार ने बताया कि यह उर्दू विद्यालय है और मेरे पदभार संभालने के पहले से ही ऐसा ही चलता आ रहा है।

स्कूल की दीवार पर लिखा मध्याह्न भोजन का मेन्यू

जब इनसे इस विषय में सरकारी आदेश की बात पूछी गई तो उन्होंने कहा कि जैसे रविवार को स्कूल बंद होने का कोई लिखित आदेश नहीं है, वैसे ही शुक्रवार को भी बंद होने का कोई लिखित आदेश उनके पास नहीं है। जबकि इस बारे में जिला शिक्षा पदाधिकारी ओम प्रकाश के पास कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है। उन्होंने जानकारी लेने के बाद अपना वक्तव्य देने को कहा।

शुक्रवार को स्कूल में लटका ताला

कई स्कूलों में है ऐसी व्यवस्था?
विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस जिले में एक भी उर्दू विद्यालय नहीं है। हालांकि एक सूत्र ने एक उर्दू विद्यालय होने की बात कही है। बाबजूद इसके बरबीघा, शेखोपुरसराय सहित अन्य प्रखंडों के कई स्कूल हैं जो शुक्रवार को बंद हो रहे हैं। इन स्कूलों में गांव एवं मोहल्लों की आबादी के हिसाब से छुट्टी का दिन तय कर दिया गया। जबकि सरकार की ओर से इसके लिये कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि बिना सरकारी आदेश के रविवार की जगह शुक्रवार को छुट्टी क्यों है? समान शिक्षा समान नियम के बाबजूद बिना आदेश के शिक्षा विभाग का दोहरा नियम कहाँ से उचित है? इस मामले में जिला प्रशासन को अपने स्तर से जांच कर उचित कार्रवाई करने की जरूरत है।

Back to top button
error: Content is protected !!