जानकारीपटनाशेखपुरा

मिशन अमृत सरोवर के तहत बीआईटी मेसरा पटना कैम्पस के विद्यार्थियों ने किया मालती पोखर का मुआयना

Sheikhpura: केंद्र सरकार के मिशन “अमृत सरोवर जल धरोहर संरक्षण” के तहत पटना के बीआईटी मेसरा कैम्पस के विद्यार्थियों का एक दल आज बरबीघा पहुंचा। जहां उन्होंने नगर क्षेत्र स्थित मालती पोखर तालाब का मुआयना किया। इस कार्य मे नगर परिषद के कर्मियों ने उनका सहयोग किया।

इस दौरान छात्र एवं छात्राओं ने तालाब के वर्तमान स्थिति का जायजा लेते हुए जल संरक्षण, संपर्क सड़क, बिजली, साफ-सफाई, रख-रखाव आदि का गहराई से अध्ययन किया। साथ ही स्थानीय लोगों से बात कर इस तालाब के ऐतिहासिक एवं धार्मिक महत्व की जानकारी हासिल की। वहीं पर्यटन स्थल के रूप में इसके विकास के लिये जरूरी आवश्यकताओं के बारे में भी पूछा।

इस संबन्ध में दल के साथ आये बीआईटी मेसरा की अभियांत्रिकी विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर बंदना महतो ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर देश के प्रत्येक जिले में 75 सरोवरों का कायाकल्प किया जाना है। केंद्र सरकार के निर्देश पर आज बीआईटी मेसरा के विद्यार्थियों का दल इस तालाब का अध्ययन करने पहुंचे हैं। इस दल में सिविल इंजीनियरिंग के तीसरे एवं फाइनल सत्र के कुल 15 छात्र एवं छात्राएं शामिल हैं।

स्थानीय लोगों से तालाब की जानकारी लेते छात्र व छात्राएं

बताते चलें कि तेतारपुर गांव स्थित मालती पोखर इस इलाके के लोगों का धरोहर है। धार्मिक एवं ऐतिहासिक रूप से भी इस तालाब का अलग महत्व है। छठ पूजा, कार्तिक पूर्णिमा एवं माघी पूर्णिमा के अवसर पर यहां विशाल मेले का आयोजन भी किया जाता है। जिसमें आस-पास स्थित कई गांव के ग्रामीणों के अलावे हजारों की संख्या में अन्य श्रद्धालु भी जमा होते हैं। इस तालाब के पर्यटन स्थल के रूप में विकसित होने से इसकी महत्ता और बढ़ने की उम्मीद है।

Back to top button
error: Content is protected !!