जानकारीनवादानालंदाशेखपुरा

फेसबुक पर हुआ प्यार तो घर से भागकर कर ली शादी, पुलिस के हस्तक्षेप से दोनों परिवारों के बीच हुआ समझौता

Sheikhpura: कहते हैं, प्यार जब सच्चा हो तो दुनिया की कोई भी ताकत दो प्रेमियों को जुदा नहीं कर सकती। रिया और विशाल की कहानी भी ऐसी ही है। दोनों ने परिजनों की मर्जी के बिना शादी की और एक दूसरे के लिए जमाने से लड़ने को तैयार हो गए। शादी के बाद उसके मायके के लोग उसे ढूंढते हुए दोनों के पास पहुँचे। जहां किसी बात को लेकर तकरार हो गई और बात पुलिस तक पहुंच गई। फिर पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामले को शांत करवाया।

थाने में हुआ दोनों पक्षों के बीच समझौता
दरअसल बरबीघा के मिशन ओपी पुलिस को सूचना मिली कि सकलदेव नगर मोहल्ले में दो पक्षों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो रहा है। पुलिस तुरन्त वहां पहुंची और दोनों पक्षों को लेकर थाने पहुंच गई। पता चला कि रिया और राहुल घर से भागकर प्रेम-विवाह कर सकलदेव नगर मोहल्ले में रह रहे थे। रिया नवादा जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के तेतरिया निवासी सुधीर चौहान की पुत्री है तो वहीं विशाल नालंदा जिले के सरमेरा थानाक्षेत्र के गौसनगर निवासी जनार्दन केवट का पुत्र है।

रक्षाबंधन के बाद आने का वादा कर गई पिता के घर
शादी के बाद उसका भाई राहुल उसे मायके ले जाने आया था। इसी को लेकर साले-बहनोई के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। किसी ने घटना की जानकारी पुलिस को दे दी। थाने में थाना प्रभारी नवीन कुमार ने रिया एवं राहुल से पूछ-ताछ की। दोनों ने खुद को बालिग बताते हुए साथ जीवन व्यतीत करने की बात कही। फिर दोनों के परिजनों से उनकी मर्जी पूछी गई। दोनों पक्षों को इस शादी से कोई ऐतराज नहीं था। रिया अपनी मर्जी से रक्षाबन्धन के लिए मायके जाने को तैयार हो गई। वहीं उसके पिता ने भी रक्षाबंधन के बाद उसे पूरे रीति-रिवाज से विदा करने की बात कही। जिसके बाद थानाध्यक्ष ने बांड भरवाकर रिया को उसकी मर्जी से अपने पिता के साथ घर भेज दिया।

फेसबुक पर ही हो गया था प्यार
रिया के मुताबिक दोनों का प्यार फेसबुक से शुरू हुआ था। दोनों की पहले फेसबुक पर ही दोस्ती हुई। करीब एक साल तक फेसबुक पर बात-चीत के बाद दोनों एक दूसरे को दिल दे बैठे। फिर एक दिन नवादा में मिलने का प्रोग्राम तय हुआ। जिसके बाद दोनों ने फरवरी 2022 में भागकर नालंदा जिले के मघड़ा स्थित शीतला माता मंदिर में शादी कर ली। शादी के बाद दोनों बरबीघा नगर क्षेत्र के सकलदेव नगर मोहल्ले में किराए के मकान में रहने लगे। इस बात की जानकारी जब उसके मायकेवालों को हुई तो वे लोग उसे घर ले जाने के लिये सकलदेव नगर पहुंच गए। जिसके बाद पुलिस के हस्तक्षेप से मामला शान्त हुआ।

Back to top button
error: Content is protected !!