खेती-बाड़ीजन-समस्यालापरवाहीशेखपुरा

यूरिया के लिये किसानों ने किया हंगामा, घण्टों लाइन में लगने के बाद भी नहीं मिला खाद

Sheikhpura: बरबीघा प्रखंड कार्यालय परिसर में सैकड़ों किसानों ने यूरिया नहीं मिलने के कारण काफी देर तक हंगामा किया। इसके पहले कोरोना संक्रमण के खतरे के बाबजुद खाद बिक्री के काउंटर पर महिला एवं पुरुष किसानों की भारी भीड़ उमड़ गई। जिसके कारण हंगामे को स्थिति उत्पन्न हो गई। इस हंगामे को शांत करने के लिए पुलिस का सहारा भी लेना पड़ा। जिसके बाद खाद खत्म हो जाने के बाद किसानों ने काफी देर तक हंगामा किया।

दरअसल इन किसानों को गुरुवार को भी कई घण्टे लाइन में खड़े रहने के बाद उनका नम्बर आने से पहले ही काउंटर बन्द हो गया था। आज भी सुबह 7 बजे से ही अभी तक लाइन में खड़े थे। जिसके बाद खाद खत्म होने की बात बताकर बिक्री बन्द कर दिया गया। जिसके बाद किसान उग्र हो गए और सरकार और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

किसानों ने बताई अपनी समस्या
इस बाबत तेउस, पिंजड़ी माउर, मालदह, इस्माइलपुर, नारायणपुर, केंवटी, धरसेनी, कुटौत सहित कई गांवों के किसानों ने बताया कि एक तरफ मौसम की मार से किसान परेशान हैं। कर्ज एवं सूद पर पैसा लेकर खेती कर रहे हैं। दूसरी तरफ सरकार ने हमें परेशान कर रखा है।

खाद के लिये लाइन में खड़ी महिला किसान

खेती का कार्य छोड़कर घण्टों लाइन में लगने के बाद भी खाद नही मिलता है। जिससे हम किसानों को काफी परेशानी हो रही है। मजबूरी में हमें बाजार से ब्लैक से खाद खरीदकर खेती करना पड़ता है। किसानों ने कहा कि अगर यही स्थिति रही तो हम किसानों को खेती बन्द कर कोई अन्य रोजगार तलाशना पड़ेगा।

जिला कृषि पदाधिकारी के क्या कहा?
इस संबन्ध में बिस्कोमान भवन में कार्यरत्त कर्मी सनिल कुमार ने बताया कि एक एकड़ खेत की रसीद पर किसानों को एक बोरी खाद दिया गया है। एक किसान को अधिकतम 5 बोरी खाद दिया गया है। यहां 3000 बोरी यूरिया की मांग की गई थी। जिसके एवज में जिला से मात्र 1600 बोरी का ही आवंटन हुआ है। कम आवंटन के कारण खाद खत्म हो गया। जिसके बाद काउंटर बन्द करना पड़ा।

खाद वितरित करते बिस्कोमान कर्मी

वहीं जिला कृषि पदाधिकारी शिवदत्त प्रसाद ने बताया कि जिले में खाद का आवंटन ऊपर से ही कम हो रहा है। जिसके कारण ये स्थिति उत्पन्न हो रही है। आज भी कुछ आवंटन हुआ है जिसे शनिवार तक सभी जगह पहुंचा दिया जायेगा। साथ ही उन्होंने किसानों को आश्वस्त करते हुए कहा है कि अगले 10 दिनों में पूरे जिले में भरपूर मात्रा में खाद की आपूर्ति हो जाएगी।

Back to top button
error: Content is protected !!