जन-कल्याणप्रशासनशेखपुरा

प्रमंडलीय आयुक्त ने भूमि सर्वेक्षण के कार्यों का किया स्थल निरीक्षण, जिलाधिकारी के साथ अन्य पदाधिकारी भी रहे मौजूद

Sheikhpura: जिले में हो भूमि सर्वेक्षण कार्यों के निरीक्षण हेतु मंगलवार को प्रमंडलीय आयुक्त प्रेम सिंह मीणा जिला मुख्यालय पहुंचे। जहां उन्होंने शिविर संख्या 2 के अंतर्गत थाना नम्बर 92 के राजस्व ग्राम छोटकी मिल्की के नए अधिकार अभिलेख के प्रपत्र-20 के सत्यापन के लिए एक बैठक में भाग लिया।

इस बैठक में जिलाधिकारी इनायत खान, अनुमंडलाधिकारी कुमार निशांत, बन्दोबस्त पदाधिकारी, भूमि सुधार उपसमाहर्ता, सहायक बंदोबस्त पदाधिकारी, नोडल पदाधिकारी, शिविर प्रभारी, कानूनगो एवं अमीन भी उपस्थित थे। इस बैठक के साथ उन्होंने जिलाधिकारी व अन्य पदाधिकारियों के साथ मौजा छोटकी मिल्की का स्थल निरीक्षण भी किया। जिसमें छोटकी मिल्की के रैयतों की सहभागिता भी रही।

बताते चलें कि बिहार में जमीन का नया सर्वे हो रहा है। संबंधित पदाधिकारियों के निरीक्षण में सभी जिलों में शिविर लगाकर इस कार्य को पूरा किया जा रहा है। इस सर्वे के आधार पर सभी जमीन मालिक के नाम से नया खतियान नक्शा सरकार की ओर से जारी किया जाना है। गौरतलब हो कि रैयत के मोबाइल पर भूमि के सर्वेक्षण में जमीन के ब्योरा के लिए प्रपत्र-2 है, जबकि वंशावली 2 पृष्ठों के प्रपत्र-391 में भरना है। कुल 22 प्रपत्र हैं, इसमें पहला प्रपत्र सर्वेक्षण की घोषणा से है, जबकि प्रपत्र 20 के जरिए सर्वेक्षण का अंतिम प्रकाशन किया जाता है।

स्थल निरीक्षण कर रैयतों से जानकारी लेते प्रमंडलीय आयुक्त

ये दोनों काम महत्वपूर्ण इसलिए हैं, क्योंकि इनसे प्राप्त होने वाली जानकारी को शामिल किए बगैर सर्वे का काम आगे नहीं बढ़ सकता है। ये दोनों काम रैयत ही कर सकते हैं। किस रैयत के पास कितनी भूमि है, उसका खाता-खेसरा क्या है, रकबा कितना है, ये तमाम जानकारियां कोई रैयत ही उपलब्ध करा सकता है। उसी तरह हरेक के पूर्वजों की सबसे बेहतर जानकारी भी उसी इंसान को होगी। जनप्रतिनिधि जैसे, मुखिया, सरपंच या फिर वार्ड सदस्य उसकी पुष्टि भर कर सकते हैं।

Back to top button
error: Content is protected !!