शेखपुरास्वास्थ्य

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम ने रेफ़रल अस्पताल का किया निरीक्षण, कहा- आईपीएचएस के मुताबिक अस्पताल की व्यवस्था में हैं कई कमियां

अस्पताल के भवन, अत्याधुनिक एक्स-रे रूम, प्रसुति कक्ष की व्यवस्था एवं पूरे परिसर की बेहतर साफ-सफाई को लेकर संतोष व्यक्त किया।

Sheikhpura: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की सीआरएम टीम के द्वारा आज बरबीघा रेफ़रल अस्पताल का निरीक्षण किया गया। इस टीम में शामिल डॉ रघुवंश सिंह एवं डॉ निकलेश ने बारीकी से अस्पताल में मौजूद सभी सुविधाओं का निरीक्षण किया। इस दौरान चिकित्सा प्रभारी डॉ फैसल अरशद की अनुपस्थिति के कारण अस्पताल के प्रबंधक राजन कुमार ने उनका भरपूर सहयोग किया।

निरीक्षण के उपरांत अस्पताल के भवन, अत्याधुनिक एक्स-रे रूम, प्रसुति कक्ष की व्यवस्था एवं पूरे परिसर की बेहतर साफ-सफाई को लेकर संतोष व्यक्त करते हुए डॉ रघुवंश ने बताया कि इंडियन पब्लिक हेल्थ स्टैंडर्ड के मुताबिक अस्पताल में काफी कमियां पायीं गई हैं। इतनी अच्छी बिल्डिंग होने के बाद भी सिजेरियन ऑपरेशन की व्यवस्था नहीं होना बेहद चिंताजनक है।

साथ ही यहां अल्ट्रासाउंड व ब्लड स्टोरेज यूनिट का भी कोई इंतजाम नहीं है। हालांकि उन्होंने कहा कि अस्पताल में जीएनएम, एएनएम सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की भारी कमी के कारण ये सुविधाएं बन्द हैं। टेक्निशियन की कमी के कारण बन्द पड़े दंत ओपीडी की व्यवस्था को लेकर भी खेद जताया है।

वहीं आशा कार्यकर्त्ताओं के महीनों से बन्द वेतन के सवाल पर उन्होंने कहा कि ये राज्यस्तरीय समस्या है। उन्होंने कहा कि इसकी विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर जल्द ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को सौंपा जाएगा। अस्पताल में एम्बुलेंस की कमी के सवाल पर उन्होंने बताया कि इसका संचालन केंद्रीय स्तर से होता है और ये समस्या पूरे बिहार में है। जल्द ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा इसका निराकरण किया जाएगा।

Back to top button
error: Content is protected !!