खास खबर/लोकल खबरशेखपुरा

मण्डप से फरार हुआ दुल्हा, सिंदूर बिन सुनी रह गयीं दुल्हन की मांग,बाराती बन गये बंधक

चुटकी भर सिंदूर लगा दो,
मेरी मांग को पिया सजा दो,
पवित्र रिश्ता कलंकित न होने पाए,
जीवन संगी मुझे बना लो
कुछ इसी भाव के साथ मण्डप पर सजी धजी बैठी दुल्हन सब कुछ देखती रही और उसकी मांग सिंदूर लगाए बिना सुनी रह गयी। शादी के लिए तैयार दूल्हा मण्डप से भागने का प्रयास करने लगा, काफी मान मनोव्वल के बाद वह माना लेकिन उसके बाद भी शौच जाने का बहाना बना कर गया तो फिर वापस नहीं आया। कुछ देर तक शादी समारोह में शामिल लोग दूल्हे का इंतज़ार करते रहे लेकिन तबतक वह वहां से फरार हो चुका था। घटना के कारणों का अभी तक खुलासा नही हो सका है। लेकिन बेटी के बाप के आंखों से आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहा है। कल्पना कीजिये आप कैसी स्थिति रही होगी।

आखिरकार गांव वालों ने सभी बारातिओं को बंधक बना लिया और लड़का को बुलाने की मांग पर अड़ गए। यह घटना शेखपुरा जिले के करांडे थाना क्षेत्र अंतर्गत कुरमुरी गांव का है जहाँ शिवदानी महतो की बेटी की शादी का रिश्ता जमुई जिले के अलीगंज थाना क्षेत्र अन्तर्गत दिघौत गांव के श्रवण महतो के बेटे सतीश कुमार के साथ तय हुई थी। शादी की सभी शर्ते भी मानी गई और शादी की तिथि तय हुआ। नियत समय पर कल बारात भी धूमधाम से आया। गीत और संगीत का माहौल था महिलाएं झूम रही थी,बारात में आए लोग डांस कर झूम रहे थे,मण्डप पर शादी समारोह के आयोजन की तैयारी हो रही थी। सभी विधि विधान से पंडित जी द्वारा हिन्दू रीति रिवाज के साथ मंत्रोचारण किया जा रहा था और मांग में सिंदूर भरने की तैयारी की जा रही थी कि अचानक दूल्हा मण्डप से गायब हो गया और फिर सभी खुशियां ठहर सी गई। फिर बारात को बंधक बनाया गया और मामला पुलिस तक पहुंच गया। लड़के बाले के द्वारा ढूंढ कर लड़का को लाया गया। अब लड़की पक्ष के लोगों को लड़के की नियत पर संदेह हुआ और लड़के पर शादी के पहले सभी सम्पति लड़की के नाम करने का दवाब बनाया गया। मामले में अभी तनातनी है। पुलिस को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दे दी गई है।

Back to top button
error: Content is protected !!