चुनावराजनीतिशेखपुरा

चौथे जिप सदस्य का परिणाम आते ही अध्यक्ष पद के लिए राजनीतिक सरगर्मी तेज, बरबीघा के परिणाम से एक खेमा को लगा जोर का झटका

Sheikhpura: पंचायत चुनाव में जिले के अंदर सबसे बड़ी राजनीति जिला परिषद अध्यक्ष पद को लेकर हो रही है। इसको लेकर जिले के सभी गली-नुक्कड़ों में भी अटकलों का बाजार गर्म है। सात सीटों के इस मुकाबले में चार का परिणाम घोषित हो चुका है। जिसमें शेखपुरा पश्चिम से चंदन सिंह समर्थित दुलार मांझी, शेखोपुरसराय से संजीव कुमार की पत्नी व पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष निर्मला देवी, चेवाड़ा से नए चेहरे के रूप में कुशोखर गांव निवासी पंकज कुमार के बाद बरबीघा से कद्दावर त्रिशूलधारी सिंह समर्थित गीता देवी ने इस पद पर जीत का परचम लहराया है। चौथे जिप सदस्य का परिणाम आते ही अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी भी तेज हो गई है।

क्या है राजनीतिक गणित किसका पलड़ा भारी
इस चुनाव में यह जिला तीन राजनीतिक ध्रुवों में बंटा हुआ नजर आ रहा है। जिसमें से एक का नेतृत्व जद यू के जिलाध्यक्ष रणधीर कुमार सोनी कर रहे हैं, वहीं दूसरे का बरबीघा विधायक सुदर्शन कुमार जबकि तीसरे का नेतृत्व शेखपुरा के वर्तमान विधायक विजय सम्राट के हाथ में है। अंदरखाने की खबर के मुताबिक विजय सम्राट व सुदर्शन कुमार ने पंचायत चुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंक दी। कुछ इलाके में दोनों अपने मुखिया प्रत्याशी को जीत दिलाने में कामयाब भी रहे, पर जिप अध्यक्ष पद हाथ से जाते देख दोनों ने आंतरिक समझौता कर लिया है।

जीत के बाद प्रसन्न मुद्रा में जिप सदस्य गीता देवी व त्रिशूलधारी सिंह के समर्थक

वहीं बरबीघा के परिणाम ने जद यू जिलाध्यक्ष रणधीर कुमार सोनी को मजबूत कर दिया है। चार विजेताओं में से तीन ने रणधीर कुमार सोनी में आस्था भी व्यक्त किया है। वहीं बरबीघा से सुदर्शन कुमार के धुर विरोधी त्रिशूलधारी सिंह का समर्थन भी रणधीर कुमार सोनी को मिलने की संभावना व्यक्त की जा रही है। हालांकि अभी तीन जिप क्षेत्र में चुनाव होना बाकी है। पर मौजूदा स्थिति में जो संकेत मिल रहे हैं, उसमें रणधीर कुमार सोनी का खेमा काफी मजबूत दिख रहा है। ऐसे इसके लिए अभी और इंतजार करना होगा, काहे कि राजनीति और क्रिकेट में कब क्या हो जाये किसे पता।

Back to top button
error: Content is protected !!