चुनावप्रशासनशेखपुरा

कल होगी 5 वें चरण के वोटों की गिनती, स्वच्छ, निष्पक्ष एवं पारदर्शी मतगणना हेतु जिला प्रशासन ने की व्यापक व्यवस्था, जानें जिलाधिकारी ने क्या कहा?

Sheikhpura: पांचवें चरण की वोटिंग के बाद मतों की गिनती मंगलवार 26 अक्टूबर को सुबह 8 बजे बजे से प्रारम्भ होगी। जिलाधिकारी इनायत खान के निर्देश पर स्वच्छ, निष्पक्ष एवं पारदर्शी मतगणना हेतु व्यापक व्यवस्था की गई है। वहीं चुनाव पर्यवेक्षक के द्वारा आज मतगणना केंद्र का निरीक्षण किया गया।

मतों को गणना के लिए डाइट भवन में बेहतर व्यवस्था के साथ कुल 48 टेबल बनाया गया है। जिला परिषद के सदस्य, ग्राम पंचायत मुखिया, पंचायत समिति के सदस्य और ग्राम सभा के सदस्यों के ईवीएम मशीन एवं ग्राम कचहरी पंच और सरपंच का मतपत्रों की मतगणना की जाएगी। वहीं सुरक्षा हेतु भारी मात्रा में पुलिस फोर्स की प्रतिनियुक्ति भी की गई है। इसके अलावा विधि व्यवस्था के संधारण हेतु बड़ी संख्या में पदाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति भी की गई है।

आम जनता को मतगणना के पल-पल का अपडेट देने के लिए काफी संख्या में लाउडस्पीकर लगाए गए हैं। बिना पास के किसी भी व्यक्ति का अंदर जाना निषेध है। सभी पदों के लिए अलग-अलग कमरे में मतगणना की जाएगी। जिलाधिकारी के द्वारा मतगणना कार्य से जुड़े सभी अधिकारियों और मतगणना कर्मियों को सुबह 6 बजे मतगणना स्थल पर उपस्थित होने का निर्देश जारी किया गया है। ताकि मतगणना कार्य आरंभ करने से पूर्व सभी आवश्यक तैयारियों को पूरा किया जा सके। साथ ही उन्होंने कहा है कि जिला प्रशासन लोकतंत्र की गरिमा को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है और इसलिए संपूर्ण मतगणना प्रक्रिया को पूर्व की भांति पारदर्शी बनाए रखना हमारा लक्ष्य है। इस बात को दृष्टिगत रखते हुए उद्घोषणा की वीडियो रिकॉर्डिंग भी करवाने का आदेश दिया गया है। मतगणना प्रक्रिया को सुचारू एवं गतिशील बनाए रखने के लिए जिलाधिकारी ने और भी कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि ये सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि मतगणना कार्य आरंभ होने से पूर्व संबंधित पंचायत के किसी भी पद के उम्मीदवार अथवा उनके प्रतिनिधियों को माइक द्वारा उद्घोषणा कर उनके पंचायत की मतगणना प्रारंभ होने की सूचना दी जाय। प्रशासन को यह शिकायत नहीं मिलनी चाहिए कि मतगणना के समय किसी पद के उम्मीदवार अथवा उनके प्रतिनिधि को सूचना ही नहीं दी गई थी।

निर्वाची पदाधिकारीयों को भी निर्देश दिया गया कि किसी पंचायत की मतगणना की प्रक्रिया नियमानुकूल पूर्ण हो जाने के बाद विजेता उम्मीदवार को जल्द से जल्द प्रमाण पत्र प्रदान कर दिया जाय। जिससे अनावश्यक भीड़-भाड़ से बचा जा सके। साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई है कि मतगणना कार्य को पारदर्शी एवं शांतिपूर्ण रूप से संपन्न करवाने में विभिन्न पंचायतों के उम्मीदवारों एवं उनके प्रतिनिधियों का भी अपेक्षित सहयोग प्राप्त होगा।

Back to top button
error: Content is protected !!