लापरवाहीशेखपुरा

पैक्स से धान का नहीं मिला पैसा तो किसान पहुंचे मुख्यमंत्री जनता दरबार, जानें क्या है पूरा मामला

Sheikhpura: बरबीघा प्रखंड के पिंजड़ी पैक्स के द्वारा धान खरीद के बाद किसानों को पैसा नहीं देने एवं परेशान करने के बाद जिला स्तर पर सुनवाई नहीं होने के बाद प्रखंड के कुसेढ़ी गांव के किसान रमाशंकर सिंह अपनी शिकायत लेकर कल सोमवार को मुख्यमंत्री के जनता दरबार में पहुंच गये। जहां उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से स्थानीय अधिकारियों के द्वारा मामले की लीपापोती करने, किसानों की फरियाद नहीं सुनने व धान का पैसा नहीं दिलाने की शिकायत की।

उन्होंने बताया कि धान खरीद में पैक्स अध्यक्ष के द्वारा मनमानी करते हुए पैसा नहीं दिया गया। जिसके अभाव में वे अपनी मां का इलाज भी नहीं करा पा रहे हैं। किसान की पूरी बात सुनने के बाद मुख्यमंत्री ने मामले पर संज्ञान लेते हुए प्रधान सचिव एवं मुख्य सचिव को तलब कर पूरे मामले को गंभीरता से देखने का निर्देश दिया। जिसके बाद स्थानीय सहकारिता विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मच गया है।

पीड़ित किसान

क्या है पूरा मामला?
बताते चलें कि ये एकलौता मामला नहीं है। पिंजड़ी पैक्स की मनमानी से दर्जनों किसान परेशान हैं। पैक्स के अध्यक्ष के द्वारा किसानों से धान की खरीद के बाद पैसा नहीं दिया जा रहा। पैक्स के द्वारा नकली रसीद पर धान की खरीद की गई। किसानों का लगभग 8 से 10 लाख रुपये का चूना लगाया गया। इनमें से ज्यादातर किसान थक हार कर अब प्रयास करना भी छोड़ चुके हैं। उनके द्वारा लगातार विभिन्न अधिकारियों के पास शिकायत की गई। जिला स्तर के लेकर कमिश्नर तक सभी अधिकारियों को आवेदन दिया गया।

बरबीघा थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाती प्रखण्ड सहकारिता पदाधिकारी

कमिश्नर के हस्तक्षेप के बाद प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी के द्वारा बरबीघा थाने में प्राथमिकी भी दर्ज करवाया गया। बाबजुद इसके उनका पैसा अभी तक नहीं मिला। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पैक्स अध्यक्ष की राजनीतिक पहुंच व पैरवी के कारण हर बार मामला दबा दिया गया। कोई उनकी खिलाफत करने को तैयार नहीं है।

Back to top button
error: Content is protected !!