अपराधजानकारीशेखपुरा

इस गांव में छापेमारी करने पहुंची पश्चिम बंगाल की पुलिस, बच निकले साइबर अपराधी

Sheikhpura: बिहार के साथ-साथ पूरे देश में शेखपुरा ने अपनी एक नई पहचान बना ली है। यहां के कई गांव साइबर क्राइम का गढ़ बन चुके हैं। जहां के युवा चंद रुपयों की खातिर लोगों से ठगी का कारोबार कर दिन-दूनी रात-चौगुनी तरक्की करने में लगे हैं। महंगी गाड़ियों में घूमने व महंगे परिधान पहनने के शौक ने इन्हें अपराधी की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दिया है। शेखोपुरसराय के बाद अब साइबर क्राइम में बरबीघा प्रखंड के कई गांव शामिल हो गए हैं।

ताजा मामला बरबीघा प्रखंड के इस्माईलपुर गांव का है, जहां बीते मंगलवार को पश्चिम बंगाल की पुलिस छापेमारी करने पहुंची। बरबीघा थाना पुलिस के सहयोग से बंगाल पुलिस यहां ठगी के एक बड़े मामले में संलिप्त युवक की तलाश में आई थी। हालांकि इस दौरान पुलिस को नाकामयाबी हासिल हुई। पुलिस के द्वारा युवक के पिता एवं भाई को पूछ-ताछ के लिये थाने लाया गया। जहां पूछ-ताछ के बाद उसे छोड़ दिया गया और पश्चिम बंगाल की पुलिस भी बैरंग बापस लौट गई। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस गांव के कई युवा इस अबैध धंधे में संलिप्त हैं, जिन्हें स्थानीय नेता का संरक्षण भी प्राप्त है।

Back to top button
error: Content is protected !!