जन-समस्यालापरवाहीशेखपुरा

दो जिलों की सीमाओं में फंस गए हैं ग्रामीण, नहीं मिल रहा सरकारी लाभ, जिला प्रशासन से मदद की अपील की

Sheikhpura: शेखोपुरसराय प्रखंड में एक गांव है, बाजिदपुर। नवादा और शेखपुरा जिले की सीमा पर बसे इस गांव के लोगों की कहानी भी हिंदुस्तान और पाकिस्तान जैसी है। दरअसल इस गांव का लगभग 100 घर शेखपुरा जिला में बाकी नवादा जिला में है। जमीन जायदाद सब शेखपुरा में है, पर मतदान सूची में नाम नवादा में है। किसी भी मतदान में ग्रामीण वोट नवादा में देते हैं, पर सरकारी योजनाओं का लाभ लेने जाते हैं, तो वहां से उनको शेखपुरा भेज दिया जाता है। काहे कि कागज में तो घर शेखपुरा में पड़ता है और जहां घर है लाभ भी वहीं से मिलेगा।

शेखपुरा में भी ये लाभ नहीं ले सकते काहे कि मतदाता सूची में नाम तो नवादा जिले में हैं। ये ग्रामीण कई वर्षों से ऐसी ही दोहरी जिंदगी जी रहे हैं। वोट के समय नेता समस्या निपटाने की बात कहते हैं, फिर क्या? चुनाव खत्म, समस्या भी खत्म। अजय चौधरी, हरिहर प्रसाद, संतोष कुमार, उमेश पासवान, महादेव पासवान, संतोष मोची, बिजेंदर चौधरी आदि ग्रामीणों ने अपना दुखड़ा सुनाते हुए कहा कि घर शेखपुरा में और मतदान सूची में नाम नवादा में होने के कारण सरकारी योजना के सभी लाभ से वे लोग बंचित हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से इस पर पहल कर शेखपुरा जिले के मतदाता सूची में नाम जोड़ने की अपील की है, ताकि इन्हें भी सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सके।

Back to top button
error: Content is protected !!