खेती-बाड़ीजन-समस्याशेखपुरा

खाद की किल्लत से जूझ रहे किसानों को कबतक करना होगा इंतजार? जानें पूरी बात

Sheikhpura: धान के फसल को खाद की सख्त जरूरत है और जिले में खाद की भारी किल्लत है। मुंहमांगी रकम देने के बाद भी किसानों को खाद नहीं मिल रहा है। जिसके कारण धान के पैदावार में भारी क्षति की संभावना व्यक्त की जा रही है। दरअसल खाद की कालाबाजारी रोकने के लिए जिला प्रशासन के कड़े निर्देश के बाद डीलरों ने खाद का उठाव नहीं किया है। जिसके कारण जिले में खाद की किल्लत हो गई है।

मिली जानकारी के मुताबिक एपीएस खाद का रैक लगा है। परन्तु यूरिया एवं डीएपी का रैक नहीं लगने के कारण पूरे जिले में खाद की किल्लत हो गई है। यूरिया एवं डीएपी के स्टॉक को जिले में पहुंचने में अभी 5 से 6 दिन और लगने की संभावना है। तबतक किसानों को इन्तजार करना होगा।

बरबीघा के किसानों को सबसे ज्यादा परेशानी
खाद का सभी ज्यादा दिक्कत बरबीघा प्रखंड के किसानों को हो रहा है। यहां विस्कोमान में कार्यरत्त पुराने कर्मचारी के निलंबन के कारण महीनों से खाद का उठाव नहीं हो सका है। पॉश मशीन में नए कर्मचारी का फिंगर प्रिंट नहीं जुड़ने के कारण खाद का आबंटन रुका हुआ है। जिसका खामियाजा यहां के किसान उठा रहे हैं।

एक सप्ताह में दूर हो जाएगी किल्लत
हालांकि इन सबके बीच जिला कृषि पदाधिकारी शिवदत्त प्रसाद ने बताया कि जिले में 5500 बोरा खाद का आबंटन हुआ है वहीं कल बुधवार को 4000 बोरा खाद और आ जायेगा। जिसे सभी डीलरों को आवंटित कर दिया जाएगा। वहीं इफको के खाद का आवंटन नहीं होने के कारण किसी भी विस्कोमान को खाद नहीं मिल सका है। उन्होंने उम्मीद जताया है कि एक सप्ताह के भीतर स्थिति सामान्य हो जाएगी।

Back to top button
error: Content is protected !!