धर्म और आस्थाप्रशासनशेखपुरा

मोहर्रम के मौके पर शांति एवं सद्भावना बनाये रखने के लिए शांति समिति की बैठक में लिए गए कई निर्णय, जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने जारी किया संयुक्तादेश

Sheikhpura: आगामी 20 अगस्त को मोहर्रम पर्व को लेकर जिलाधिकारी इनायत खान एवं पुलिस अधीक्षक कार्तिकेय शर्मा के द्वारा संयुक्त आदेश जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि बिहार सरकार के द्वारा कोरोना संक्रमण की स्थिति को नियंत्रण में रखने हेतु 25 अगस्त तक सभी धार्मिक स्थलों को आम लोगों के लिए बंद रखने एवं किसी प्रकार का धार्मिक प्रदर्शन या जमावाड़ा नहीं लगाने का स्पष्ट निर्देश दिया गया है। इसके तहत 25 अगस्त तक निषेधाज्ञा लागू रहेगा। साथ ही यह भी कहा गया है कि इस पर्व के मौके पर सम्प्रदायिक सद्भावना भड़काने वाले व्यक्तियों, अराजकता या असामाजिक तत्वों तथा अफवाहों को फैलाने वालों पर पर्याप्त निगरानी रखने एवं सतर्कता बरतने की आवश्यकता है।

संवेदनशील स्थलों का चयन कर दंडाधिकारियों की तैनाती
इसके तहत जिले के 50 स्थलों पर पुलिस पदाधिकारी, सशस्त्र बल एवं प्रभारी दण्डाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिनमें से कमासी, लालबाग, बड़ी संगत पुल, वाजितपुर, अहियापुर, कुण्डा, तरछा पर, कटरा चौक, जमालपुर बीघा, पचना, एकसारी बीघा, चढ़ियारी, शेखपुरा, पिण्डशरीफ(सरीफ), नवादा (मेहुस), मनियौरी, नवीनगर ककरार, रामपुर, हुसैनाबाद, सनैया, धनकौल, सहनौरा, विद्यापुर, चोरदरगाह, फुलचोढ़, चोरवर, चकन्दरा, करण्डे, तियाय, बरबीघा का फैजाबाद, बाड़ापर मस्जिद, कबीरपुर, जयरामपुर आदि प्रमुख हैं। इन स्थलों गुप्त सूचनाओं को एकत्रित करने हेतु ग्रामीण पुलिस बल तथा अन्य सरकारी एवं गैर सरकारी अंग जो ग्रामीण या शहरी क्षेत्रों में कार्यरत है, उन्हें इस कार्य पर पूर्व से लगाया जाए। इस कार्य का मूल उत्तरदायित्व थानाध्यक्ष का होगा। साथ ही सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को भी निर्देश दिया जाता है कि वे अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के माध्यम से आसूचनाओं का संकलन करेंगे तथा स्थिति पर पर पैनी नजर रखेंगे। प्रखंड के बाहर से आने वाले संदिग्ध व्यक्तियों पर भी कड़ी निगरानी बनाएं। अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को उपरोक्त सभी तथ्यों का अनुपालन कराने का निर्देश दिया गया है।
आपात स्थिति से निपटने के लिये नियंत्रण कक्ष की स्थापना
वहीं इस पर्व पर किसी अप्रिय वारदात से निपटने हेतु सभी स्वास्थ्य केंद्रों को 24 घंटे खुला रखने का निर्देश दिया गया है तथा अग्निशामक पदाधिकारी, शेखपुरा को भी जिला नियंत्रण कक्ष, शेखपुरा और बरबीघा थाना में एक-एक एवं अन्य यूनिट अग्निशामक को अपने मूल कार्यालय में तैयार रखने का निर्देश दिया गया है। साथ ही एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना भी की गई है। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, थानाध्यक्ष को अपने सम्बंधित क्षेत्र का दैनिक प्रतिवेदन प्रतिदिन 3 बजे एवं संध्या 6 बजे तक जिला नियंत्रण कक्ष को भेजने का निर्देश दिया गया है। जिला नियंत्रण कक्ष का प्रभार अपर अनुमंडल पदाधिकारी राजीव कुमार (9810903578) को सौंपा गया है। वहीं वरीय प्रभार में जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी हरिशंकर राम (9431240245) रहेंगे। जिला नियंत्रण कक्ष 24 घंटे खुला रहेगा। किसी भी आपातकालिक स्थिति के लिये 06341-223333 इस नम्बर पर सम्पर्क किया जा सकेगा।
कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं
साथ ही प्रतिनियुक्त दंडाधिकारिओं एवं पुलिस पदाधिकारिओं को ससमय अपने प्रतिनियुक्ति स्थल पर उपस्थित रहकर अपने कर्तव्य का निर्वहन करने का सख्त निर्देश दिया गया है। कार्य मे किसी भी तरह की लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी।
इसके पहले मंथन सभागार में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में शांति समिति की बैठक का भी आयोजन किया गया। जिसमें उपस्थित सभी सदस्यों के द्वारा शांति और सद्भाव के साथ मुहर्रम का पर्व मनाने का आश्वासन दिया गया। साथ ही कोरोना को लेकर किसी भी तरह का जुलुस का आयोजन नहीं करने का भी आश्वासन दिया गया। इस बैठक में सभी वरीय पदाधिकारिओं के अलावे शांति समिति के संबिल हैदर, संजीत प्रभाकर, शम्भू यादव, प्रभात पाण्डेय एवं अन्य प्रमुख सदस्य उपस्थित थे।

Back to top button
error: Content is protected !!