खेती-बाड़ीजन-समस्याशेखपुरा

अन्नदाता को नहीं मिल रहा खेतों के लिये खाद, कैसे उपजेगा खेत में धान

Sheikhpura: इस बार जिले में बारिश उम्मीद के मुताबिक हुई है, जिसके कारण हमारे अन्नदाता काफी प्रसन्न हैं। धान की रोपाई का कार्य पूरे जिले में जोर-शोर से चल रहा है, वहीं दूसरी तरफ खेतों में प्रयोग होने वाले उर्बरक की कमी के कारण इस कार्य में व्यवधान भी उत्पन्न हो रहा है। दरअसल पिछले कुछ दिनों से जिले में डीएपी और यूरिया खाद की किल्लत हो गई थी। जिसके बाद 9 अगस्त को पूरे जिले में खाद का आवंटन किया गया। पर बरबीघा प्रखंड को खाद का आबंटन नहीं मिल सका, जिससे यहां के किसानों में मायूसी छाई है। रोजाना दर्जनों किसान धान खरीदने के लिए कृषक सेवा केंद्र का चक्कर लगा रहे हैं। पर खाद का आवंटन नहीं होने के कारण उन्हें मायूस होकर बैरंग बापस लौटना पड़ रहा है। खाद की ये किल्लत बिगत 15 दिनों से जारी है, आगे कब तक चलेगी? कहना मुश्किल है।

क्यों नहीं हुआ खाद का आवंटन?
इस बाबत कृषक सेवा केंद्र में कार्यरत्त कर्मी सनिल कुमार ने बताया कि पूर्व में यहां कार्यरत्त कर्मी दीपक कुमार के नाम से लाइसेंस निर्गत है, पॉश मशीन में भी उन्हीं का फिंगरप्रिंट लगता है। दीपक कुमार फिलहाल सस्पेंड हैं, उनके फिंगरप्रिंट के अभाव में पॉश मशीन कार्य नहीं कर रहा है। बार-बार बुलाने के बाबजूद वो नहीं आ रहे हैं, जिसके कारण पॉश मशीन को अपडेट नहीं किया जा सका है।

कृषक सेवा केंद्र में कार्यरत्त कर्मी व खाली गोदाम

उन्होंने बताया कि विभाग के वरीय पदाधिकारियों को इसकी लिखित जानकारी दे दी गई है, पर प्रक्रिया पूरी होने में सम्भवतः 10 या 15 दिन लग सकता है। इसके बाद ही यहां से किसानों को खाद की आपूर्ति की जा सकेगी। हालांकि अभी यहां एनपीके और एपीएस पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है, पर उसकी आपूर्ति में भी यही दिक्कत है। उन्होंने यह भी बताया कि तत्काल किसान हथियावां या शेखपुरा स्थित कृषक केंद्र जाकर खाद की खरीद कर सकते हैं। वहां पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध है।

अन्नदाता के ऊपर अतिरिक्त आर्थिक बोझ कहाँ तक उचित
ऐसे में सवाल ये उठता कि खाद की खरीद के लिए किसानों को 15 किलोमीटर की व्यर्थ यात्रा और वहां से खाद लाने में अधिक व्यय का भुगतान कौन करेगा। कोरोना के इस दौर में आर्थिक मंदी से जूझ रहे किसानों के ऊपर एक और अतिरिक्त आर्थिक बोझ बढ़ाना कहाँ तक उचित है। इस मामले में वरीय अधिकारियों को संज्ञान लेकर बरबीघा के किसानों के हित में प्रखण्ड मुख्यालय में खाद की आपूर्ति करने की जरूरत है, ताकि हमारे अन्नदाता को कोई परेशानी न हो।

Back to top button
error: Content is protected !!