अपराधशेखपुरा

नवविवाहिता गुड़िया को ससुराल घुसने से रोका, एक सप्ताह पहले दोनों के परिवार की मर्जी से हुई थी शादी, जानिए क्या है पूरा मामला?

Sheikhpura: सदर थाना क्षेत्र के सतबिगही मुहल्ले में एक नव विवाहिता को शादी के महज एक सप्ताह बाद ही उसके ससुराल वालों ने घर से निकाल दिया। ससुराल वाले उसे अपनाने से साफ इंकार कर रहे हैं। महिला को घर से निकालकर ताला बंद कर दिया है।

इस संबंध में नालन्दा जिले के बिहारशरीफ निवासी जगदीश गोस्वामी की नवविवाहिता बेटी गुड़िया देवी ने बताया है कि 26 जुलाई को पूरे रस्मो-रिवाज के साथ उसकी शादी शेखपूरा शहर के अति व्यस्ततम चांदनी चौक स्थित श्रृंगार दुकान के संचालक गौतम से हुई थी। शादी के लिए लड़की के पिता ने दो लाख रुपया दहेज भी दिया था। इस शादी में दोनों पक्ष के कई लोग भी शामिल हुए थे। शादी के बाद दो दिन तक सब कुछ ठीक-ठाक गुजरा, पति ने गुड़िया को अपने घर में भी रखा। दो दिन बाद हिन्दू नियमानुसार उसके पति गौतम कुमार ने उसे उसके मायके बिहारशरीफ पहुंचा दिया।

अपने माँ-बाप के साथ ससुराल के दरवाजे पर बैठी गुड़िया और पड़ोसियों की भीड़

उसके बाद जब वो लौटकर आई तो उसे अपनाने से भी मना कर दिया और घर से बाहर कर दिया गया। नवविवाहिता को अपनाने के लिए लड़के के पिता तैयार हैं, पर लड़का फरार हो गया है। लड़के की बहन और उसके परिवार वाले उसे घर में प्रवेश करने नहीं दे रहे हैं। लड़के के फूफा महेंद्र गोस्वामी ने कहा है कि लड़के की शादी जबरन कराई गई है और यह लड़के का घर नहीं है। जिसने शादी किया है वो अपने साथ रखेगा तो हम लोगों को कोई आपत्ति नही होगी। इस पूरे प्रकरण के बाद नवविवाहिता गुड़िया ने हिम्मत दिखाते हुए स्थानीय वार्ड पार्षद के दरबाजे पर न्याय की गुहार लगाने गयी। ससुरालवालों ने उनकी भी नहीं सुनी।तब उसने थाना में जाकर फरियाद किया है। ऐसे में विवाहिता को न्याय दिलाने के लिए पुलिस-प्रशासन क्या कदम उठाती है?

Back to top button
error: Content is protected !!