प्रशासनशेखपुरा

पंचायत सचिव की लापरवाही के कारण शिक्षक नियोजन प्रक्रिया अधर में और अभ्यर्थी शिक्षकों का भविष्य अंधेरे में

Sheikhpura: शेखोपुरसराय नगर पंचायत के नीमी एवं चरूआवां पंचायत में शिक्षक नियोजन प्रक्रिया में पंचायत सचिव के द्वारा घोर लापरवाही और धांधली का मामला प्रकाश में आया है। दरअसल जिलाधिकारी के ज्ञापन 740 दिनांक 3 जुलाई 2021 के आलोक में आदेशानुसार नवगठित नगर पंचायत के दोनों पंचायत के पंचायत सचिव को शिक्षक नियोजन से संबंधित सभी अभिलेख 9 जुलाई के पहले कार्यपालक पदाधिकारी को उपलब्ध कराना था। लेकिन 5 दिन बीच जाने के बावजूद भी शिक्षक नियोजन संबंधित अभिलेख कार्यपालक पदाधिकारी विजय कुमार को उपलब्ध नहीं कराया गया है। जिसके कारण नगर पंचायत के अभ्यर्थी शिक्षकों का भविष्य अंधेरे में लटक गया है। इस संबंध में जानकारी देते हुए कार्यपालक पदाधिकारी विजय कुमार ने बताया कि दोनों पंचायत के पंचायत सचिव के द्वारा आज तक शिक्षक नियोजन संबंधित दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराया गया है। उन्होंने बताया कि नीमी पंचायत के सचिव कलीमुद्दीन के द्वारा उन्हें बताया गया कि उसे 11 जुलाई को प्रखंड मुख्यालय के द्वारा पत्र प्राप्त हुआ था। 14 जुलाई को शिक्षक नियोजन से संबंधित अभिलेख उपलब्ध करा दूंगा। वहीं चरूआवां पंचायत के सचिव नंदकिशोर प्रसाद के द्वारा बताया कि उसे भी पत्र देर से प्राप्त हुआ है जिसके कारण संबंधित अभिलेख उपलब्ध कराने में देर हो गई।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शिक्षक नियोजन के लिये जिला प्रशासन से कार्यपालक पदाधिकारी को प्राधिकृत किया गया था। परंतु दोनों पंचायत सचिव ने बिना कार्यपालक पदाधिकारी को सूचना दिए अपने स्तर से नियोजन कर लिया। बाद में कार्यपालक पदाधिकारी को सिर्फ नियोजन संबन्धी कागजात सौंपने गए। जिसे कार्यपालक पदाधिकारी ने नियम के विपरीत कार्य बताकर लेने से मना कर दिया। बहरहाल मामला जो भी हो इस मामले में अभ्यर्थी शिक्षकों का भविष्य अधर में लटक गया है।

Back to top button
error: Content is protected !!