जरा हट केजानकारीशेखपुरा

बच्चा सहित महिला के अगवा मामले में नाहक ही बदनाम हुआ बंधन बैंक, जानें पूरी सच्चाई

Sheikhpura: बरबीघा प्रखण्ड के कन्हौली गांव में एक फाइनेंसियल बैंक के कर्मी के द्वारा एक विवाहित महिला को अगवा करने का मामला प्रकाश में आया है। मिली जानकारी के मुताबिक महिला के ससुर रामजतन मिस्त्री के द्वारा इस बाबत पुलिस कप्तान के पास लिखित शिकायत भी दर्ज करवाया गया है। जिसमें बैंक के कर्मी सूरज कुमार, राधा कृष्णा, बड़ा रोहित, छोटा रोहित एवं राजा के खिलाफ अपनी बहु संगीता देवी एवं उसके 9 वर्षीय पुत्र अंश कुमार को अगवा करने का आरोप लगाया गया है। दिये गए आवेदन में बैंक का नाम स्वबंधन बैंक लिखा गया है। महिला बिगत 14 मई से ही गायब है।

बंधन बैंक को किया गया बदनाम
इस पूरे प्रकरण में कुछ मीडिया वालों ने स्वबंधन को बंधन समझकर बंधन बैंक के नाम का जिक्र कर दिया। जिसके कारण बैंक के सारे कर्मी परेशान हो गए। इस बाबत बंधन बैंक के मैनेजर प्रवेश कुमार ने बताया कि इस तरह की खबरों से मानसिक परेशानी के साथ कम्पनी का नाम भी खराब होता है। मीडिया को सच्चाई का पता लगाकर खबरों का प्रकाशन करना चाहिये।

spandana sphoorty financial limited का कार्यालय व दर्ज प्राथमिकी

क्या है पूरा मामला, किस बैंक से है इसका संबन्ध?
दरअसल ये मामला spandana sphoorty financial limited से संबंधित है। दर्ज प्राथमिकी के सारे आरोपी इसी कम्पनी में कार्य करते हैं। इस बाबत कम्पनी के ब्रांच मैनेजर पप्पू कुमार ने बताया कि इस मामले की जानकारी पूर्व में हो चुकी है। महिला संगीता देवी ने ब्रांच से लोन ले रखा है। उनके यहां पिछले दो महीने से किश्त भी बकाया है। उन्होंने कहा कि उक्त महिला ने बैंक के साथ धोखाधड़ी की है। कई महिलाओं को बरगलाकर उनके नाम पर बैंक से लोन ले रखा है। महिला के गायब होने के बाद इस बात का खुलासा हुआ। उन्होंने बताया कि इस पूरे मामले का संबन्ध ब्रांच से नहीं है। ब्रांच के कर्मी बाहर क्या गुल खिलाते हैं, इसके बारे में बता पाना मुश्किल है।

आरोपी सूरज कुमार का त्यागपत्र और कम्पनी की उपस्थिति पंजी

आरोपी सूरज कुमार ने 14 मई को ही त्यागपत्र दे दिया था। ब्रांच के पास उसका त्यागपत्र भी मौजूद है। उन्होंने मगही न्यूज़ को सूरज कुमार का मोबाइल नंबर भी उपलब्ध कराया, जो फिलहाल बन्द पाया गया। हालांकि इस मामले के अन्य आरोपी ब्रांच कर्मी के फील्ड में होने के कारण उनकी राय नहीं ली जा सकी है।

spandana sphoorty financial limited के ब्रांच मैनेजर पप्पू कुमार की तस्वीर

बहरहाल मामला की सच्चाई क्या है? इसका खुलासा तो पुलिसिया जांच के बाद ही होने की संभावना है। पर इतना जरूर है कि इस मामले में बंधन बैंक की मुफ्त में बदनामी हो गई। जो कहीं से उचित प्रतीत नहीं होता।

Back to top button
error: Content is protected !!