जागरूकताजानकारीशेखपुरास्वास्थ्य

टीकाकरण नहीं करवाने वाले दुकानदारों पर अब होगी कार्रवाई, नगर प्रशासन कर रहा तैयारी

10 जुलाई से नगर क्षेत्र के राज राजेश्वर उच्च विद्यालय, रेफरल अस्पताल एवं कन्या मध्य विद्यालय (पुरानी शहर) में 18 से अधिक उम्र वाले सभी दुकानदारों को लगाया जाएगा टीका

Sheikhpura: कोरोना से बचाव हेतु टीकाकरण ही एकमात्र विकल्प है। जिला प्रशासन के लाख प्रयासों के बाबजुद कुछ लोग टीका लगवाने में लापरवाही बरत रहे हैं। लॉक डाउन खत्म के होने के बाद बाजार में बढ़ रही भीड़ के कारण संक्रमण की संभावनाओं से इंकार भी नहीं किया सकता। इसको रोकने हेतु हाल ही में हुई बैठक में जिला प्रशासन के द्वारा कुछ निर्णय लिए गए हैं। जिलाधिकारी इनायत खान की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में टीका नहीं लगवाने वाले दुकानदारों पर कार्रवाई का निर्देश जारी किया गया है।

दुकानदारों एवं सहयोगियों को टीका लगाना अनिवार्य
इस बाबत जानकारी देते हुए बरबीघा नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि दुकानदार प्रतिदिन अनेक लोगों से मिलते हैं। ऐसे में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। सभी दुकानदारों एवं उनके सहयोगियों को टीका देने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी दुकानदार एवं उनके सहयोगी यदि टीका ले लेंगे तो यह खतरा कम हो जाएगा। साथ ही वो अपनी दुकान में आने वाले ग्राहकों को भी टीका लगवाने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। इस के लिए मंगलवार को अपने कार्यकाल कक्ष में रेफरल अस्पताल के प्रबंधक राजन कुमार व पिरामल के नीरज कुमार के साथ बैठक कर उन्होंने इसकी तैयारियों पर चर्चा किया।[poll id=”2″]

टीका नहीं लगाने पर वसूला जाएगा जुर्माना
उन्होंने कहा कि 9 जुलाई तक नगर क्षेत्र में माइकिंग करवाकर दुकानदारों एवं उनके सहयोगियों को इसके लिए जागरूक किया जाएगा। फिर 10 जुलाई से नगर क्षेत्र के राज राजेश्वर उच्च विद्यालय, रेफरल अस्पताल एवं कन्या मध्य विद्यालय (पुरानी शहर) में 18 से अधिक उम्र वाले सभी दुकानदारों को टीका लगाया जाएगा। साथ ही एक चलंत टीका केंद्र के माध्यम से भी उनका टीकाकरण किया जाएगा। टीकाकरण के बाद सभी दुकानदारों को अपना प्रमाण पत्र दुकान में चिपकाना होगा। उन्होंने कहा कि 12 जुलाई से नगर क्षेत्र के सभी दुकानों में इसकी जांच की जाएगी। बिना टीका लगाए दुकान में बैठने वाले दुकानदारों या सहयोगियों से जुर्माना भी वसूल किया जाएगा। इस आदेश की अवहेलना करने पर कठोर कार्रवाई भी की जा सकती है।

Back to top button
error: Content is protected !!