लापरवाहीशेखपुरास्वास्थ्य

डॉक्टर की लापरवाही के कारण फिर एक मरीज की हुई मौत, मामले की लीपा-पोती जारी

Sheikhpura: जिले में डॉक्टर की लापरवाही के कारण पिछले दिनों कई मरीजों की जान चली गई है। ताजा मामला बरबीघा थाने से सटे डॉ श्रवण कुमार के निजी क्लीनिक का है। इस क्लीनिक में ऑपरेशन के बाद एक महिला की खून के ज्यादा रिसाव के कारण मौत हो गई। महिला बेलाव पंचायत के हैदरचक गांव के असलेंद्र कुमार की 35 वर्षीय पत्नी करुणा देवी बताई जा रही है।

मरीज की मौत की खबर सुनकर गांव से सैकड़ों ग्रामीण वहां इकट्ठा हो गए। उसके बाद परिजनों ने क्लीनिक में जमकर हंगामा किया। मिली जानकारी के मुताबिक मृतका का पति भी मानसिक रूप से थोड़ा कमजोर है, जो फिलहाल दिल्ली में है। हालांकि अभी तक इस मामले में पुलिस को कोई सूचना नहीं मिल पाई है।

क्लीनिक के बाहर लोगों की भीड़

क्या है पूरा मामला
इस बाबत परिजनों ने बताया कि मृतका रविवार को क्लीनिक में अपना बच्चेदानी और गॉल ब्लैडर का ऑपरेशन करवाने आई थी। दोपहर बाद 2 बजे के लगभज इसका ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के बाद भी जब दर्द कम नहीं हुआ तो कम्पाउण्डर ने 2 इंजेक्शन दिया। पर डॉक्टर देखने तक नहीं आये। परिजनों ने डॉक्टर पर आरोप लगाते हुए बताया कि टांके लगने का बाद भी खून का रिसाव हो रहा था। उन्होंने अंदेशा जताया कि ऑपरेशन में गलती की बजह से मरीज की दर्द से छटपटा कर जान चली गई। मिली जानकारी के मुताबिक डॉक्टर साहब एमबीबीएस हैं, सर्जन नहीं। इनके क्लीनिक में बिना जरूरी मानकों को पूरा किये ही बड़े-बड़े गम्भीर बीमारियों का ऑपरेशन मोटी रकम लेकर किया जाता है। इसके पहले भी इनके क्लीनिक में कई बार ऐसी घटनाएं घट चुकी हैं।

मृतका के अनाथ बच्चे

मामले की हो रही लीपा-पोती
हालांकि इन सबके बीच डॉ श्रवण कुमार ने मरीज की मौत का कारण हार्ड अटैक बताया है। अब डॉक्टर साहब इस मामले की लीपा-पोती में जुटे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक डॉक्टर साहब रसूखदार हैं और राजनीति में भी इनकी पैठ है। एक लाख में डील फाइनल हुआ है और मामला चंद घण्टों में रफा-दफा होने ही वाला है। अब ऐसे में सवाल ये उठता है कि मृतका के अनाथ बच्चों के भविष्य का क्या होगा?

Back to top button
error: Content is protected !!