प्रशासनशेखपुरास्वास्थ्य

डॉ फैसल अरशद का ओहदा बढ़ा, बने नोडल पदाधिकारी सह रोगी कल्याण समिति के सचिव

Sheikhpura: बरबीघा रेफरल अस्पताल में प्रशासनिक पदाधिकारी के पद पर काम कर रहे डॉ फैसल अरशद को कल शुक्रवार को इस पद से हटा दिया गया। सिविल सर्जन डॉ कृष्ण मुरारी प्रसाद सिंह ने राज्य सरकार के नियमों का हवाला देते हुए इस सृजित पद से उन्हें विमुक्त कर दिया। इसके बाद आज उन्होंने एक नया आदेश पत्र जारी करते हुए डॉ फैसल अरशद का ओहदा बढ़ाते हुए अस्पताल का नोडल पदाधिकारी नियुक्त किया है। साथ ही उन्हें रोगी कल्याण समिति का सचिव भी बनाया गया है। बताते चलें कि डॉ सुनीता के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी बनाए जाने के कारण यह पद खाली हो गया था। डॉ फैसल अरशद का ओहदा बढ़ाये जाने को लेकर अस्पताल के कर्मी काफी खुश हैं।

गौरतलब हो कि 3 जनवरी 2019 को तत्कालीन जिलाधिकारी के द्वारा रेफरल अस्पताल में कार्य शिथिलता को देखते हुए उन्हें प्रशासनिक पदाधिकारी बनाया गया था। जिसके बाद रेफरल अस्पताल के कार्यों में काफी तेजी से विकास हुआ। डॉ फैसल अरशद की कार्यशैली की बदौलत आम लोगों का भरोसा अस्पताल पर बना। यहां के कर्मी ससमय अपनी ड्यूटी पर मौजूद रहकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना भी सीख गए। डॉ फैसल ने अस्पताल की साफ-सफाई से लेकर रोगियों को मिलने वाली सुविधाओं का भी खास ख्याल रखा। जिसकी बदौलत कोरोना महामारी के इस दौर में भी लोगों को इस रेफरल अस्पताल में सभी सुविधाएं मिलती रहीं। साथ ही साथ कोरोना टीकाकरण में भी अस्पताल ने बेहद उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है।

Back to top button
error: Content is protected !!