प्रशासनशेखपुरा

नगर पंचायत कार्यालय खोलने में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं बीडीओ, जिलाधिकारी के आदेश की अवमानना

Sheikhpura: शेखोपुरसराय को नगर पंचायत बने कई महीने बीत गए। पर आज तक यहां के निवासियों को शहरी योजनाओं का लाभ मिलना शुरू नहीं हुआ है। उनकी राह में इस प्रखण्ड के बीडीओ रोड़ा बनकर अटक गये हैं। जिसके कारण नगर पंचायत का सारा कार्य ठप्प पड़ा है।

दरअसल सरकार के निर्देश पर जिलाधिकारी के द्वारा यहां जल्द से जल्द नगर पंचायत को कार्यालय खोलने का निर्देश दिया गया था, ताकि शहरी योजनाओं को जल्द से जल्द लागू किया जा सके। इस आदेश के बाद जिलाधिकारी के द्वारा किसान भवन में कार्यालय खोलने का आदेश भी निर्गत किया गया था। लेकिन यहां के बीडीओ अमरेंद्र कुमार अमर इस कार्य में लगातार बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। जिलाधिकारी के आदेश की लगातार अवहेलना कर रहे हैं।

किसान भवन के कमरे में रखा सामान

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी विजय कुमार के द्वारा कई बार प्रयास करने के बाद बीडीओ के द्वारा किसान भवन के एक कमरे की चाभी कार्यालय खोलने के लिए उपलब्ध कराया गया था। आज गुरुवार को जब कार्यपालक पदाधिकारी उस कमरे में गए तो वहां कुर्सी टेबल आदि भरा पड़ा था। जब सामानों को हटाने की बारी आई तो बीडीओ साहेब ने जगह का बहाना बनाकर इसे टाल दिया। इसके बाद मामला वरीय अधिकारियों को इसमें हस्तक्षेप करना पड़ा। सूत्रों की मानें तो जिलाधिकारी के डीएसओ से भी बीडीओ ने दूरभाष पर अपनी दबंगई दिखाई। पर मामला जब ज्यादा बिगड़ने लगा तो तुरन्त सारे सामानों को हटाने की बात करने लगे। हालांकि इन सबके बीच आज का समय भी निकल गया और कार्यालय खुलते-खुलते रह गया।

किसान भवन से बाहर निकलते प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी

बताते चलें कि बीडीओ साहेब राजनीतिक गठजोड़ के लिए जाने जाते हैं। वहीं ये लगातार विवादों से भी घिरे रहते हैं। हाल ही में अम्बारी पंचायत के मुखिया ने इनके ऊपर स्थानीय नेता से मिलकर धोखाधड़ी का आरोप भी लगाया था, जिसका वीडियो भी मीडिया में प्रकाशित हुआ था। अब इस मामले में उन्होंने जिलाधिकारी के आदेश की अवमानना कर अपनी दबंगई साबित भी कर दी है।

Back to top button
error: Content is protected !!