अबैध शराबशेखपुरा

1446 लीटर अंग्रेजी शराब, एक्सपायरी बियर के साथ 3 धंधेबाज गिरफ्तार, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने दी विस्तृत जानकारी

शेखपुरा जिले के जयरामपुर थाना क्षेत्र के पांक पर गांव के बधार स्थित एक सरकारी ट्यूबवेल से पुलिस ने नाटकीय अंदाज में भारी मात्रा में विदेशी शराब व केन बियर बरामद किया है। गुप्त सूचना के आधार पर थानाध्यक्ष बिनोद कुमार झा की अगुआई में थाना पुलिस ने छापेमारी कर मौके पर से तीन शराब कारोबारियों को भी धर दबोचा। इस संबन्ध में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने जयरामपुर थाने में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विस्तृत जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने 2280 केन बियर सहित इम्पीरियल ब्लू कम्पनी का बिभिन्न मात्रा का 1124 बोतल शराब बरामद किया है। जिसमे कुल 1446 लीटर शराब मौजूद है।

बरामद शराब का निरीक्षण करते अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के साथ जयरामपुर थानाध्यक्ष व अन्य

साथ ही उन्होंने बताया कि इस कार्रवाई में मौका ए वारदात से पांक पर गांव के रामनंदन प्रसाद के पुत्र सुजीत कुमार, स्व.यदु महतो के पुत्र राजीव कुमार एवं स्व. यदुनंदन प्रसाद के पुत्र कन्हैया कुमार को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। साथ ही साथ पुलिस ने मौके से शराब ढोने में इस्तेमाल किया जाने वाला एक टाटा सफारी dicor गाड़ी भी बरामद किया है, जिसका नम्बर HR 51 AB 2150 है। वहीं मौके से पुलिस को चकमा देकर बरबीघा के फैजाबाद निवासी अमर पासवान भागने में सफल रहा।

बरामद शराब

इस छापेमारी में ASI नंदन यादव सहित थाने के सशस्त्र बल के जवान शामिल थे। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को पुलिस कप्तान कार्तिकेय शर्मा सम्बोधित करने वाले थे, पर उनके किसी अन्य कार्य व्यस्त होने की बजह से वो शामिल नही हो पाए। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस के द्वारा बरामद शराब का ये जखीरा इलाके में विख्यात शराब माफिया बरबीघा के फैजाबाद निवासी शाहिद खान उर्फ असरानी का है। बताते चलें कि शाहिद खान अभी नालन्दा जेल में बंद है। सूत्रों के यह भी बताया कि ये शराब बहुत दिनों से इस गांव में रखा हुआ था, जिसे इनलोगों की मदद से धीरे-धीरे इलाके में बेचा जा रहा था। वहीं पुलिस ने जो केन बियर बरामद किया है, वो दिसम्बर 2020 में ही एक्सपायर हो गया था। उसे भी इन लोगों के द्वारा बेचा जा रहा था। जिससे उसे पीने वाले की जान भी जा सकती थी। सूत्रों के हवाले से ये भी खबर मिली है कि शाहिद खान के जेल जाने के बाद उसका सारा सिंडिकेट उसकी एक महिला मित्र सम्भाल रही है, जो अभी तक पुलिस की पहुंच से दूर है।

Back to top button
error: Content is protected !!