धर्म और आस्थाशेखपुरा

कोरोना की भेंट चढ़ गए पर्व-त्योहार, चैती नवरात्र में अरघौती पोखर में पसरा सन्नाटा

चंदन कुमार की रिपोर्ट
पूरे देश में एक बार फिर से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण ने इस बार भी पर्व-त्योहारों पर ग्रहण लगा दिया है। चैती नवरात्र, चैती छठ और रमजान जैसे पवित्र त्योहार इस बार भी कोरोना की भेंट चढ़ गए। शेखपुरा में कई जगहों पर चैती नवरात्र के मौके पर तरह-तरह के कार्यक्रम आयोजित किये जाते थे। धूम-धाम से पूजा के साथ मेला भी लगता था। शेखपुरा नगर क्षेत्र के अरघौती धाम पर भी मैले का आयोजन होता था। दूर-दूर के लोग यहां मेला देखने भी आते थे। पर इस बार यहां पूरी तरह सन्नाटा पसरा है। जिला प्रशासन के आदेशानुसार अरघौती धाम में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए किसी भी कार्यक्रम पर पूरी तरह से रोक लगा दिया गया है। धाम के मुख्य द्वार पर ताला लगा दिया गया है तथा बाहरी लोगों का प्रवेश वर्जित है। सिर्फ धाम के सदस्यों को ही मास्क लगाकर व सोशल डिस्टेंस का पालन कर आने की अनुमति दी गई है। आयोजन समिति के एक सदस्य ने बताया कि कोरोना के कारण पिछले साल भी चैती नवरात्र व छठ पूजा में किसी कार्यक्रम का आयोजन नहीं हुआ था। इस बार भी यही हाल है। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर हर साल यहां मेला लगता था। जिसमें कई लोग अपनी दुकान लगाते थे, जिससे उन्हें अच्छी आमदनी होती थी। पर लगातार दो वर्षों से आयोजन पर रोक लग गया है। कोरोना सिर्फ लोगों की जान ही नहीं ले रहा, बल्कि उनकी रोजी-रोटी भी छीन रहा है। आलम ये है कि गरीब तबके के जो लोग कोरोना से बच जाएंगे, वे भूख और लाचारी से दम तोड़ देंगे।

Back to top button
error: Content is protected !!