जरा हट केजागरूकताजानकारीप्रशासनशेखपुरा

बरबीघा नगर प्रशासन का तुगलकी फरमान, इस कारण सील होंगी दुकानें, जानें क्यों?

बिहार सहित देश भर में कोरोना एक बार फिर से द्रुत गति से बढ़ रहा है। देश भर में जारी टीकाकरण अभियान के बाद कोरोना का इस तरह से बढ़ना सोचनीय है। इसके तहत बिहार सरकार ने जांच और टीकाकरण अभियान तेज कर दिया है। शेखपुरा जिले में भी जिलाधिकारी इनायत खान के निर्देश पर टीकाकरण और जांच अभियान को गति प्रदान की गई है। इसी क्रम में बरबीघा नगर परिषद क्षेत्र स्थित रेफरल अस्पताल के अलावे नगर क्षेत्र के निवासियों के लिए नगर प्रशासन के द्वारा अम्बेडकर छात्रावास में भी टीकाकरण केंद्र बनाया गया है। नगर प्रशासन के द्वारा हर रोज इसके लिये प्रचार गाड़ी के माध्यम से प्रचार भी करवाया जा रहा है। यूँ तो यह केंद्र टीकाकरण के मामले में जिले में दूसरे नम्बर पर है। पर आंकड़ों के अनुसार इस केंद्र में भी टीका लगवाने वालों में आधे से अधिक ग्रामीण क्षेत्र के निवासी ही आते हैं। शहरी क्षेत्र के निवासियों के टीकाकरण के प्रति उदासीनता को देखते हुए नगर प्रशासन के द्वारा आज एक तुगलकी फरमान जारी किया गया है। कार्यपालक पदाधिकारी कुमार ऋत्विक के द्वारा एक आम सूचना पत्र जारी किया गया है। जिसमें नगर क्षेत्र के 45 वर्ष के ऊपर के सभी सभी ठेला भेंडरों, सब्जी भेंडर एवं अन्य दुकानदारों से अनुरोध किया गया है कि वे अनिवार्य रूप से अपना टीकाकरण करवाएं। औचक निरीक्षण में बिना टीकाकरण के पाए जाने पर उनकी दुकानों को सील कर दिया जाएगा। इस सम्बंध में कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि नगर परिषद की तरफ से सभी दुकानदारों को टीकाकरण के बाद एक प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा, जिसमें उनके नाम और प्रतिष्ठान के साथ टीकाकरण की तिथि भी अंकित होगी।

Back to top button
error: Content is protected !!