राजनीतिशेखपुरा

बरबीघा प्रखंड कार्यालय परिसर में कांग्रेस का एकदिवसीय धरना, कोरोना गाइड लाइन के कारण तुरन्त हुआ समाप्त

शेखपुरा जिला के बरबीघा प्रखंड कार्यालय परिसर में आज कांग्रेस के द्वारा एकदिवसीय धरना दिया गया। केंद्र सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि बिल के विरोध में प्रखंड कांग्रेस अध्यक्ष संजीत कुमार के नेतृत्व में पार्टी के कई वरिष्ठ एवं युवा कार्यकर्ताओं ने इस पूर्वनिर्धारित धरने में हिस्सा लिया। इस धरने को सम्बोधित करते हुए वरिष्ठ कांग्रेसी गोवर्धन प्रसाद ने केंद्र सरकार को किसान विरोधी बताते हुए कृषि बिल को सरासर गलत बताया। उन्होंने कहा कि इस कृषि बिल से कारपोरेट जगत कृषि क्षेत्रों में हावी हो जाएगा। जिससे छोटे किसान बेमौत मारे जाएंगे। वहीं पूर्व नगर अध्यक्ष व कांग्रेस नेता अजय कुमार ने कहा कि अगर यह बिल सही होता तो देश के करोड़ों किसान आज सड़क पर नहीं होते। कांग्रेस की सरकार में पेट्रोल की चंद बढ़ती कीमतों पर छाती पीटने वाले भाजपाई आज चुप हैं और इसे देश हित में बता रहे हैं। वहीं लॉकडाउन के बाद महंगाई की मार झेल रहे किसानों को नया कृषि थोपकर उनका कमर तोड़ने का काम किया गया है। जब तक केंद्र सरकार यह बिल वापस नहीं लेती तब तक कांग्रेस का यह आंदोलन जारी रहेगा। हालांकि बाद में प्रखंड विकास पदाधिकारी भरत कुमार सिंह के द्वारा कोरोना के गाइड लाइन का हवाला देते हुए धरना समाप्त करने का अनुरोध किया गया। जिसके बाद अबिलंब कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर धरना समाप्त कर दिया। इस मौके पर सत्येंद्र सिंह, अजय कुमार, हरिशंकर कुमार छोटी, बीरेंद्र सिंह, प्रलयंकारी विकास, गुलाम रब्बानी सहित पार्टी के कई वरिष्ठ एवं युवा कार्यकर्ता मौजूद थे।

Back to top button
error: Content is protected !!