जरा हट केजागरूकताशेखपुरासमाजसेवा

मानसिक रूप से विक्षिप्त माने जाने वाले युवक ने तालाब में डूब रहे बच्चे को बचाया तो गांववालों ने किया सम्मानित

मानसिक रूप से विक्षिप्त मानेजाने वाले परिवार विहीन शख्स ने तालाब में डूब रहे बच्चे की जान बचाकर मिशाल पेश की है। उसके इस कार्य से प्रभावित होकर गांव के लोगों के द्वारा उसे सम्मानित किया गया है। इस संबंध में ग्रामीण तथा पूर्व शिक्षक अमर किशोर सिंह ने बताया कि गांव के सूर्य मंदिर के आगे बनाए गए तालाब में नहाने के दौरान प्रशांत कुमार नामक एक बच्चा डूब रहा था। उसी समय वहां से गुजर रहे गांव के ही संजय कुमार तांती नामक एक शख्स ने तुरंत तालाब में छलांग लगाया और बच्चे को पानी से बाहर निकाल लाया और उस बच्चे की जान बच गई। उन्होंने बताया कि संजय तांती परिवार विहीन एक निर्धन नौजवान है। इस नौजवान को ग्रामीण मानसिक रूप से विक्षिप्त मानते हुए उसे हीन भावना से देखा करते थे। लेकिन उसने ऐसा काम किया जिससे वो गांव का हीरो बन गया। जिस बच्चे को उसने डूबने से बचाया वह अपने परिवार का इकलौता चिराग है। ग्रामीणों ने गांव के साईं मंदिर में फूल माला पहनाकर उसे सम्मानित किया। इस अवसर पर अमर किशोर सिंह ने कहा कि संजय तांती ने हमें सिखाया है कि मानवता का धर्म कैसे निभाया जाता है। हमलोगों को उसके कार्यों से प्रेरणा लेकर हमेशा एक दूसरे के काम आने के लिए सदैव तत्पर रहने की आवश्यकता है। वहीं बच्चे के माता-पिता ने भी उसे भगवान के दूत बताया है।

Back to top button
error: Content is protected !!