खास खबर/लोकल खबरशेखपुरासमाजसेवा

डीडीसी के नेतृत्व में लगे 38 सौ पौधे, पृथ्वी दिवस पर लोगों से पेड़ लगाने का किया गया अपील

आज शेखपुरा में विभिन्न विभागों के द्वारा पृथ्वी दिवस के अवसर पर हजारों पेड़ लगाए गए। “जल जीवन हरियाली” बिहार सरकार की सबसे महत्वपूर्ण और महत्वकांक्षी योजना है। इसके तहत आज सत्येंद्र कुमार सिंह उपविकास आयुक्त के नेतृत्व में हथियावां से टाटी पुल तक 3800 पौधे लगाए गए। जिसमें बरगद, पीपल, महोगनी आदि सम्मिलित है। इसके पश्चात समाहरणालय परिसर में 200 पौधे लगाए गए। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त ने बताया कि पेड़ पौधे के कारण ही हम सब धरती पर जीवित हैं। ऑक्सीजन के अलावे पौधे से हमें नाना प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं। इसके बिना मनुष्य तथा जानवरों की प्रजातियां का अस्तित्व संभव नहीं है। पेड़-पौधे जलवायु को शांत रखते हैं।

गर्मी के प्रभाव को कम करते हैं। वर्षा में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। पशु-पक्षियों को आश्रय प्रदान करते हैं। भोजन उपलब्ध कराते हैं तथा जल प्रदूषण को भी नियंत्रित करते हैं। इस अवसर पर हरिशंकर राम, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी ने कहा कि संतुलन को बनाए रखने के लिए वृक्ष का होना सबसे महत्वपूर्ण है। यह स्वयं विषैली गैस हजम कर लेते हैं और प्राणवायु हमें देते हैं। पौधे सभी हानिकारक गैसों को अवशोषित करते हैं और सांस लेने के लिये ताजा तथा शुद्ध हवा हमें देते हैं।डीपीआरओ ने कहा कि यह सही समय है कि जब हम पेड़ों के रोपण के महत्व को पहचाने तथा इस दिशा में जितना हो सके उतना योगदान करने की जिम्मेवारी हम सभी ले सकें। इसके बाद नवोदय विद्यालय शेखपुरा में एक सौ से अधिक पेड़ लगाए गए। जिसमें उप विकास आयुक्त, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिाकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, डॉ राघवेंद्र प्रसाद, नवोदय विद्यालय के प्राचार्य एवं डॉ रामाश्रय प्रसाद सिंह के अलावे कई अधिकारी उपस्थित थे। जिलाधिकारी इनायत खान के आदेश के आलोक में जिले के सभी पंचायतों में अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के द्वारा हजारों पौधे लगाए गए तथा इसके महत्व के बारे में बताया गया। जल जीवन हरियाली योजना के तहत विगत 1 वर्षों से पौधरोपण किया जा रहा है। तालाब एवं कुआं का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। इसके अलावा भी कई कार्य किए कार्य किए जा रहे हैं। जिससे हमारा पर्यावरण संतुलित और शुद्ध बना रहे।

Back to top button
error: Content is protected !!