राजनीतिशेखपुरा

रालोसपा ने शेखपूरा में जनवितरण प्रणाली में धांधली का लगाया आरोप, गरीबों से न्याय करने की बात कही

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रदेश अभियान समिति अध्यक्ष जितेंद्र नाथ ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए बताया कि शेखपुरा जिला के एक गांव का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें ग्रामीणों के द्वारा जनवितरण प्रणाली विक्रेता डीलर के खिलाफ मनमानी का आरोप लगा रहे हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि राशन कार्ड पर 35 किलो अनाज अंकित किया जाता है, लेकिन उन्हें 10 किलो ही अनाज दिया जाता है।

जितेंद्र नाथ ने बताया कि इस तरह की घटना शेखपुरा जिला के बहुत से गांव से मिल रही है। बहुत सारी जनता का आरोप है कि इस बार राशन कार्ड बनाने में पूरी तरह धांधली की गई है। उन्होंने कहा कि बहुत जगह से यह भी आरोप लग रहा है कि किसी खास पक्ष का राशन कार्ड बना दिया गया है। वहीं गरीब और दलित वर्ग का राशन कार्ड नहीं बनाया गया है। उन्होंने कहा कि अगर किसी का राशन कार्ड बना भी है तो उनके परिवार में अगर 5 सदस्य हैं तो दो लोगों का ही नाम जोड़ा गया और 3 सदस्य का नाम छोड़ दिया गया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी अनुमंडल पदाधिकारी से मांग करती है पूरे जिला में राशन कार्ड के फिर से जांच की जाए और जिस किसी भी गरीब का नाम छूट गया है उसे जोड़ने का काम किया जाए। सरकार ने लॉकडाउन के दरमियान दावा किया था कि वो प्रवासी मजदूरों को उसके अपने घरों में ही काम की व्यवस्था करेंगे और मुफ्त अनाज देंगे। लेकिन सरकार न काम की व्यवस्था कर पाई और न उनके अनाज की व्यवस्था कर पाई। सरकार की नाकामियों का हाल यह है कि अब मजदूर फिर से पलायन करने के लिए मजबूर हो रहे हैं। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी बिहार सरकार से मांग करती है कि कोरोना संकट के इस काल में सरकार गरीब लोगों के साथ न्याय करे।

Back to top button
error: Content is protected !!