खास खबर/लोकल खबरशेखपुरासमाजसेवा

कोविड-19 से संघर्ष और जमीन पर हरियाली, जिला प्रशासन का है दृढ़ संकल्प, “कोरोना मुक्त होंगे” हम इस नारे के साथ बढ़ता शेखपुरा

जिलाधिकारी श्रीमती इनायत खान के निर्देश के आलोक में जिला को हरा-भरा करने के लिए सतत प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को संतुलित रखने के लिए कुल क्षेत्रफल का एक तिहाई भाग पर वन होना अति आवश्यक है। इसके तहत 9 अगस्त को पृथ्वी दिवस के अवसर पर जिला में 58420 पेड़ केवल मनरेगा के माध्यम से लगाने का लक्ष्य रखा गया है। सत्येंद्र कुमार सिंह उप विकास आयुक्त शेखपुरा ने बताया कि अब तक विभिन्न प्रखंडों में 29000 पौधे का रोपन कर दिया गया है, जो लक्ष्य का करीब करीब 50% है। 9 अगस्त तक शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त कर लिया जाएगा। इसके लिए सभी कार्यक्रम पदाधिकारी मनरेगा को सख्त निर्देश दिया गया है।

प्रतिदिन सभी प्रखंडों में इसके लिए अपेक्षित प्रगति की जा रही है। इसके अलावा कृषि विभाग, जीविका एवं वन विभाग के द्वारा भी बड़े पैमाने पर वृक्ष लगाने का कार्य किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने जिले वासियों से अपील किया है कि हरित आवरण बनाने में सभी जिले वासियों का अपेक्षित सहयोग जरूरी है। इसके लिए पौधे की कोई कमी नहीं है। पौधें, कृषि कार्यालय वन विभाग, जीविका आदि से प्राप्त किया जा सकता है। उप विकास आयुक्त ने वन विभाग के अधिकारी को कहा कि जवाहर नवोदय विद्यालय में भी बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाया जाए। अभी भी वहां इसके लिए पर्याप्त जगह सुरक्षित है।सभी कार्यालयों में परती भूमि पर भी पौधे लगाने का निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा पूर्व में ही दिया गया है। “हर परिसर, हरा परिसर” करना सभी अधिकारियों और कर्मियों का मुख्य कर्तव्य है।

Back to top button
error: Content is protected !!