खास खबर/लोकल खबरशेखपुरासमाजसेवा

हरित जीविका हरित बिहार योजना के अन्तर्गत अरीयरी के जीविका दीदियों ने 9751 पेड़ लगाया

जल जीवन हरियाली योजना के तहत जिले भर में पौधरोपण किया जा रहा है। बिहार प्रदेश में 2.51 करोड पौधरोपण अभियान के तहत जिले भर में अभियान जारी है। विभिन विभागों द्वारा इस अभियान में सहयोग किया जा रहा है। इस क्रम में जीविका द्वारा वन विभाग के सहयोग से जिले के विभिन्न क्षेत्रों में पौधरोपण जारी है।

वहीं जीविका अरीयरी के बीपीएम रणजीत कुमार ने बताया कि जीविका स्वयं सहयता समूह से जुडी इच्छुक प्रत्येक दीदी को अपने प्रांगण एवं घर के नजदीक एक फलदार पौधा लगाना है। पर्यावरण संरक्षण के साथ संबंधित परिवारों की पोषण आवश्यकताओं को पूरा करने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम होगा, इस सोच के तहत जीविका द्वारा हरित जीविका हरित बिहार योजना के अंतर्गत अभियान चरम पर है।अभियान को गति देने के लिए प्रत्येक इच्छुक जीविका दीदी को एक-एक फलदार पौधा दिया जा रहा है।

वन विभाग द्वारा दीदियों को बिना किसी राशि के कुल 5668 फलदार पौधे उपलब्ध कराए गए हैं।लेकिन जीविका दीदी अपने आस पास के नर्सरी से पेड़ खरीद कर भी 4083 पौधे का वृक्षा रोपण की हैं। अभियान को बल देने के लिए अरीयरी प्रखंड के सभी पंचायत में जीविका दीदियों को ऑडियो-वीडियो के माध्यम से पौधरोपण की जानकारी भी दी जा चुकी है। इसके साथ ही स्थान चयन के एक माह पूर्व ही पौधरोपण के लिए कुल 9751 गड्ढे करवा लिए गए थे। प्रखंड के दस पंचायत में कुल 5668 फलदार पौधे वन विभाग द्वारा उपलब्ध करा दिए गए हैं। जिन दीदी के घर-आंगन और घर के नजदीक पौधे लगा दिए गए हैं उसकी देखभाल के लिए भी उन्हें जिम्मेदारी सौंपी गई है। जीविका सामुदायिक समन्वयक रणधीर कुमार ने बताया कि घटते वन क्षेत्र को राष्ट्रीय लक्ष्य 33.3 फीसदी के स्तर पर लाने के लिए ज्यादा से ज्यादा वृक्ष लगाने होंगे। अच्छी बात यह है कि अब जनमानस में पर्यावरण के प्रति जागरूकता आ रही है। लोग अब पेड़ पौधे की अहमियत को समझने लगे हैं। जीविका दीदीयां भी इस पुनीत कार्य में बढ़ चढ़ कर शिरकत कर रही हैं।हम सभी लोगों से आग्रह करेंगे कि अपने बच्चे और परिवार के अन्य सदस्यों के जन्म दिन के अवसर पर एक पेड़ जरूर लगाएं।इस कार्य को सफल बनाने में जीविका कर्मी के अलावा ग्राम संगठन और संकुल संघ के कैडर का भी पूर्ण सहयोग से इसको सफलता पूर्वक किया गया है ।पूरे कार्य की अगुवाई जीविका के जिला परियोजना प्रबंधक अनिशा गांगुली एवं एसडी मैनेजर निरंजन कुमार के द्वारा की जा रही है

Back to top button
error: Content is protected !!