कोरोनाखास खबर/लोकल खबरशेखपुरा

फेस मास्क से 90 प्रतिशत कोरोना वायरस के प्रभाव को रोका जा सकता है, लापरवाही और सावधानी के कारण ही बढ़ रहे हैं संक्रमण- डीएम इनायत खान

शेखपुरा की तेज तर्रार एवं संवेदनशील डीएम इनायत खान ने शेखपुरा जिले में बढते कोरोना वायरस के प्रभाव पर जिले के नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते संख्या के बावजूद भी न घबराना है और न ही डरना है। कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन के द्वारा प्रतिदिन कारगर कदम उठाये जा रहे है। लेकिन कुछ लोगों के असावधानी और लापरवाही के कारण कोविड-19 का संक्रमण लगातार हो रहा है। डीएम इनायत खान ने बताया कि फेस मास्क के उपयोग से कोविड-19 संक्रमण को 90 प्रतिशत तक रोका जा सकता है। पिछले 05 दिनों से मास्क के उपयोगिता के लिए रोक-टोको अभियान चलाया जा रहा है। इसके कारण अधिकांश व्यक्ति मास्क पहना प्रारंभ कर दिये है।
डीएम ने बताया कि कुछ नागरिकों के असावधानी के कारण ही पुनः लाॅक डाउन लगाया जा रहा है। यदि सभी नागरिक मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेंस का अनुपालन और समय-समय पर साबुन से हाथ धोना/सैनेटाइजर का उपयोग करें तो इसके संक्रमण से बचा जा सकता है। उन्होंने बताया कि यदि सभी लोग सावधान और सजग रहेंगे तो 31 जुलाई 2020 के बाद लाॅकडाउन हटाया जा सकता है। इससे बचने के लिए बिहार सरकार के दिये गये निदेशों का पूर्णरूप से पालन करना जरूरी है। मास्क के महत्व के बारे में आम लोगों को बताने के लिए चयनित 30 स्थलों पर दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। जब तक सभी व्यक्ति मास्क पहनना प्रारंभ नहीं करेंगे तबतक रोको-टोको का विशेष अभियान चलता रहेगा। दण्डाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि गरीब और जरूरतमंद व्यक्तियों के बीच निःशुल्क मास्क का वितरण करना सुनिश्चित करें। ऐसा न हो कि रूपये के अभाव में कोई व्यक्ति मास्क खरीद नहीं पायें। कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए जिला में पर्याप्त संख्या में मास्क उपलब्ध है।

[perfect_survey id=”2763″]

Back to top button
error: Content is protected !!