खेलहम्मर भारत

एशिया कप के आयोजन पर फिर नया विवाद, बीसीसीआई को है इस बात से दिक्कत

इस साल आयोजित होने वाले एशिया कप को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. एशिया कप की मेजबानी का हक रखने वाले पाकिस्तान ने सितंबर-अक्टूबर में टूर्नामेंट के आयोजन की संभावना जताई है. लेकिन भारत ने साफ किया है सिंतबर-अक्टूबर का समय टीम इंडिया के लिए सही नहीं है. इससे पहले पाकिस्तान ने दावा किया कि एशिया कप का आयोजन श्रीलंका या फिर यूएई में हो सकता है.

पीसीबी पाकिस्तान सुपर लीग के अगले सीजन को टाल कर एशिया कप की मेजबानी करने पर विचार कर सकता है. बीसीसीआई तब कैंलेंडर को एडजस्ट कर एशिया कप खेल सकती है. अधिकारी ने कहा, “एशिया कप इस साल परेशानी देने वाला है. पीसीबी के सीईओ ने जो बयान दिया है उसके हिसाब से जाएं तो जो विंडो उन्हें सही लग रही है वो भारत के लिए मुफीद नहीं है. पीसीबी अगले साल तक के लिए पीएसएल को स्थगित कर दे और बीसीसीआई इस समय तैयार रहे, तो यह हो सकता है, नहीं तो एशिया कप कराना इस मुश्किल समय में काफी सरदर्दी वाला काम लग रहा है.”

पीएसएल का आयोजन आमतौर पर फरवरी और मार्च के बीच में होता है. इस साल टूर्नामेंट नॉकआउट दौर में कोरोनावायरस के कारण स्थगित कर दिया गया था. पीसीबी नवंबर में नॉकआउट दौर कराने पर विचार कर रही है.

आईपीएल का आयोजन बीसीसीआई की प्राथमिकता

एशिया कप को लेकर वसीम खान ने मीडिया से कहा, “एशिया कप होगा. पाकिस्तान टीम दो सितंबर को इंग्लैंड से लौटेगी और इसके बाद हम सितंबर और अक्टबूर में टूर्नामेंट खेल सकते हैं. कुछ चीजें हैं जो समय के साथ साफ होंगी. हमें उम्मीद है कि एशिया कप होगा क्योंकि श्रीलंका में ज्यादा मामले नहीं हैं. अगर वह लोग नहीं कर सकते तो यूएई तैयार है.”

बीसीसीआई ने पहले ही साफ कर दिया है कि वह कोविड-19 के बाद जब क्रिकेट की दोबारा शुरुआत होगी तो उसका ध्यान घरेलू क्रिकेट और द्विपक्षीय सीरीज पर होगा. बोर्ड ने हाल ही में श्रीलंका और जिम्बाब्वे के दौरे को रद्द कर दिया है.

Back to top button
error: Content is protected !!